Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मोदी के संदेश से पहले लखनऊ में गर्म था अटकलों का बाजार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दोपहर 12 बजे महत्वपूर्ण संदेश देशवासियों को देने की खबर के बाद बुधवार को अटकलों का बाजार गर्म हो गया । टेलीविजन, रेडियो और सोशल मीडिया पर राष्ट्र के नाम संबोधन में विलंब के बीच राजनीतिक रूप से संवेदनशील उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के राजनीतिक एवं सामाजिक हलके में अटकलबाजी ने जोर पकड़ लिया ।

मोदी के संदेश से पहले लखनऊ में गर्म था अटकलों का बाजार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दोपहर 12 बजे महत्वपूर्ण संदेश देशवासियों को देने की खबर के बाद बुधवार को अटकलों का बाजार गर्म हो गया । टेलीविजन, रेडियो और सोशल मीडिया पर राष्ट्र के नाम संबोधन में विलंब के बीच राजनीतिक रूप से संवेदनशील उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के राजनीतिक एवं सामाजिक हलके में अटकलबाजी ने जोर पकड़ लिया ।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यालय पर मीडिया से रूबरू होते हुए हैरत जतायी और कहा, 'ये क्या करने जा रहे हैं ?' भारत की एंटी सैटेलाइट मिसाइल क्षमता को लेकर मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के तुरंत बाद अखिलेश ने ट्वीट किया कि आज नरेन्द्र मोदी मुफ्त में घंटा भर टीवी पर रहे और उन्होंने आकाश की ओर इशारा कर बेरोजगारी, ग्रामीण संकट, महिला सुरक्षा जैसे जमीनी मुददों से देश का ध्यान बंटाया। अखिलेश ने डीआरडीओ और इसरो को इस सफलता के लिए बधाई भी दी।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ट्वीट कर कहा कि भारतीय रक्षा वैज्ञानिकों द्वारा अंतरिक्ष में सैटेलाइट :उपग्रह: मार गिराये जाने का सफल परीक्षण करके देश का सर ऊंचा करने के लिए अनेक बधाई । उन्होंने कहा कि लेकिन इसकी आड़ में पीएम मोदी द्वारा चुनावी लाभ के लिये राजनीति करना अति-निन्दनीय है। मायावती ने कहा कि चुनाव आयोग को इसका सख्त संज्ञान लेना चाहिए।

कांग्रेस ने समय को लेकर सवाल उठाया

राजधानी के हृदयस्थल हजरतगंज में चाय की एक दुकान पर भीड़ थी । चाय वाले के मुताबिक लोग अटकलबाजी कर रहे थे कि मोदी दरअसल क्या कहेंगे । चाय वाले के लड़के रिंकू ने कहा कि ये तो तय था कि नोटबंदी जैसा कोई धमाका नहीं होगा ।

आठ नवंबर 2016 की रात मोदी ने नोटबंदी का ऐलान किया था, जिसके बाद बैंकों के एटीएम पर हुजूम उमड़ पड़ा था। बात लखनऊ विश्वविद्यालय की करें तो छात्रों में कुछ खास उत्साह नहीं दिखा। ना ही कोई यह समझ पा रहा था कि कितनी महत्वपूर्ण घोषणा हो सकती है।

यहां भी सब की अलग-अलग राय थी । नगर निगम कार्यालय के बाहर हालांकि माहौल अलग दिखा और हलचल थी । बिल्डर कृष्ण कुमार पाण्डेय ने कहा कि लोगों ने तो यही समझा कि नोटबंदी जैसा कोई बडा ऐलान होगा ।

भूगर्भशास्त्री अटल बिहारी शुक्ला ने कहा कि 12 बजे से लेकर 12 बजकर 25 मिनट तक का इंतजार काफी खलने वाला था । हर कोई बस अंदाजा ही लगा रहा था कि क्या होने वाला है ।

Next Story
Top