Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

लोकसभा चुनाव 2019: 10 साल में तीन गुना बढ़ी मतदान स्याही की कीमत, 26 लाख बोतलों का होगा इस्तेमाल

लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखें जैसे- जैसे नजदीक आ रही हैं वैसे- वैसे भारतीय निर्वाचन आयोग चुनाव की तैयारियों में जोर-शोर से जुटा है। चुनाव आयोग ने नीली स्याही की 26 लाख बोतलों का ऑर्डर दे दिया है।

लोकसभा चुनाव 2019: 10 साल में तीन गुना बढ़ी मतदान स्याही की कीमत, 26 लाख बोतलों का होगा इस्तेमाल

लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखें जैसे- जैसे नजदीक आ रही हैं वैसे- वैसे भारतीय निर्वाचन आयोग चुनाव की तैयारियों में जोर-शोर से जुटा है। चुनाव आयोग ने नीली स्याही की 26 लाख बोतलों का ऑर्डर दे दिया है।

नीली स्याही का इस्तेमाल मतदान के निशान लगाने में किया जाता है। खबरों से मिली जानकारी के मुातबिक स्याही की बोतलों की कीमत लगभग 33 करोड़ रुपये होगी। यह स्याही 90 करोड़ लोगों पर इस्तेमाल की जाएगी।

जैसा की आप जानते हैं कि लोकसभा चुनाव के लिए मतदान 11 अप्रैल से शुरू होगा और 19 मई को पूरा हो जाएगा। यह मतदान सात चरणों में होगा और 23 मई को वोटों की गिनती होगी।

इस बार है तीन गुना कीमत

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2009 में स्याही की कीमत 12 करोड़ रुपये पड़ी थी। लेकिन साल 2019 में स्याही की कीमत लगभग तीन गुना बढ़ गई है। इस बार स्याही की बोतलों की कीमत लगभग 33 करोड़ रुपये बताई जा रही है। इस बार साल 2014 के मुकाबले पक्की स्याही की 4.5 लाख बोतलें अधिक मंगाई गई हैं।

1962 में पहली बार स्याही इस्तेमाल की गई

मैसूर पैंट्स और वॉर्निश की बनाई हुई स्याही इस्तेमाल पहली बार 1962 में किया गया था। उस समय 3.74 लाख बोतलें 3 लाख रुपये में लाई गई थीं। भारत के अलावा लगभग 30 देशों में भी यहां से स्याही भेजी जाती है।

Loading...
Share it
Top