Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव 2019: वीवीपैट पर्चियों की गिनती हुई तो 23 के बजाय 28 मई को आएगा परिणाम

21 विपक्षी पार्टियों द्वारा 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों के ईवीएम से मिलान करने को लेकर दायर की गयी याचिका के जवाब में चुनाव आयोग ने कहा कि ऐसा करने से नतीजे देर से आएंगे। चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि इसके लिए न सिर्फ बड़े स्टाफ की जरूरत पड़ेगी बल्कि बड़े मतगणना हॉल की भी जरूरत पड़ेगी जो कई जगह नही हैं।

लोकसभा चुनाव 2019: वीवीपैट पर्चियों की गिनती हुई तो 23 के बजाय 28 मई को आएगा परिणाम
21 विपक्षी पार्टियों द्वारा 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों के ईवीएम से मिलान करने को लेकर दायर की गयी याचिका के जवाब में चुनाव आयोग ने कहा कि ऐसा करने से नतीजे देर से आएंगे। चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि इसके लिए न सिर्फ बड़े स्टाफ की जरूरत पड़ेगी बल्कि बड़े मतगणना हॉल की भी जरूरत पड़ेगी जो कई जगह नही हैं।
इस समय देश में 10.35 लाख मतदान केंद्र हैं। एक विधानसभा में औसतन 250 मतदाता केंद्र बनाए जाते हैं। विपक्षी पार्टियों ने दलील दी है कि एक निर्वाचन क्षेत्र में 50 प्रतिशत VVPAT का प्रयोग होगा तो चुनाव की पारदर्शिता बनी रहेगी।
चुनाव आयोग ने कहा कि अगर इतनी भारी तादाद में VVPAT का मिलान किया जाएगा तो चुनाव नतीजे 23 मई के बजाय 28 मई को आएंगे। 5 दिन तो वीवीपैट पर्चियों को ईवीएम से मिलाने में लग जाएगें। ये याचिका वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) और अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Manu Singhvi) ने दायर की थी।
Next Story
Top