Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव 2019: ''नमो टीवी'' पर भाजपा को लगा चुनाव आयोग से झटका, खर्च की मांगी जानकारी

नमो टीवी पर भाजपा को चुनाव आयोग से झटका लगा है। चुनाव आयोग ने कहा कि आचार संहिता लागू होने के बाद इस तरह से विज्ञापन करने के लिए भाजपा को अनुमति लेनी चाहिए थी। नमो टीवी एक टीवी चैनल नहीं बल्कि ये भाजपा का चुनाव प्रचार करने का एक माध्यम है।

लोकसभा चुनाव 2019:

नमो टीवी पर भाजपा को चुनाव आयोग से झटका लगा है। चुनाव आयोग ने कहा कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद इस तरह से विज्ञापन करने के लिए भाजपा को अनुमति लेनी चाहिए थी। नमो टीवी एक टीवी चैनल नहीं बल्कि ये भाजपा का चुनाव प्रचार करने का एक माध्यम है। इसलिए यह एक चुनावी विज्ञापन माना जाएगा।

सभी राजनीतिक दलों के चुनाव प्रचार पर चुनाव आयोग लगातार सख्ती से नजर रख रही है। भाजपा द्वारा चुनावी माहौल में लाया गया नमो टीवी पर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा। चुनाव आयोग आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की याचिका पर सख्ती दिखाते हुए भाजपा से जवाब मांगी है।
बता दें कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद सभी दलों को चुनावी विज्ञापन के लिए आयोग से अनुमति लेनी होती है। और भाजपा ने नमो टीवी बिना किसी मंजूरी के ही शुरु कर दिया इसलिए यह राजनीतिक विज्ञापन की श्रेणी में आएगा।
आयोग भारतीय जनता पार्टी से नमो टीवी के खर्च के बारे में भी सवाल करेगा। इसे सलाना ऑडिट रिपोर्ट में शामिल करनी होगी। लेकिन भाजपा के अनुसार उन्होंने नमो टीवी के खर्च के बारे में बता दिया है। इस विवाद की जांच के लिए चुनाव आयोग ने दिल्ली मुख्य निर्वाचन अधिकारी को मीडिया प्रमाणन और निगरानी समिति से नमो टीवी की सामग्री को जांच करने के लिए नियुक्त किया है। नमो टीवी की सभी सामग्री इस कमेटी के द्वारा जांच की जाएगी।
Next Story
Top