Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव 2019: हाथ नहीं होने पर दिव्यांग मतदाताओं के इस हिस्से पर लगाई जाएगी स्याही

लोकसभा चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा के लिए विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। दृष्टिहीन व शारीरिक रूप से अक्षम मतदाता भी चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करें, इसकी व्यवस्था भी चुनाव आयोग ने की है।

लोकसभा चुनाव 2019: हाथ नहीं होने पर दिव्यांग मतदाताओं के इस हिस्से पर लगाई जाएगी स्याही

लोकसभा चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा के लिए विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। दृष्टिहीन व शारीरिक रूप से अक्षम मतदाता भी चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करें, इसकी व्यवस्था भी चुनाव आयोग ने की है। दिव्यांग मतदाताओं की सुविधा के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक दिव्यांग मतदान केंद्र भी बनाया जा रहा है, जहां चुनाव ड्यूटी करने वाले लोग भी दिव्यांग होंगे।

चुनाव आयोग द्वारा शत प्रतिशत मतदान के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत हर वर्ग के मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके लिए स्वीप कार्यक्रम चलाया जा रहा है। साथ ही मतदान केंद्रों में मतदाताओं की सुविधा के लिए भी व्यवस्था की गई है। दिव्यांग व शारीरिक रूप से अक्षम मतदाताओं के सुविधाजनक मतदान के लिए व्यवस्था की गई है।

सभी मतदान केंद्रों में रैंप बनाए गए हैं। वहीं वहां व्हील चेयर भी उपलब्ध रहेगी। दृष्टिबाधित व शारीरिक रूप से अक्षम मतदाता सहयोगी की मदद से मतदान कर सकेंगे। चुनाव आयोग के निर्देश के अनुसार मतदान के बाद मतदाता के बाएं हाथ की तर्जनी पर अमिट स्याही लगाई जाएगी। बाएं हाथ में अंगुली नहीं होने पर दाएं हाथ की अंगुली में स्याही लगेगी। किसी दिव्यांग मतदाता के दोनों हाथ नहीं होने पर कोहनी व कंधे में अमिट स्याही लगाई जाएगी।

दिव्यांग केंद्रों में दिव्यांगों की ड्यूटी

जिले के अंतर्गत 7 विधानसभा क्षेत्रों में 7 दिव्यांग मतदान केंद्र बनाए जाएंगे, जहां मतदान दल के लोग भी दिव्यांग ही होंगे। इन केंद्रों में दिव्यांगों की सहायता के लिए भी लोग उपलब्ध रहेंगे। दिव्यांग कर्मियों को आवश्यकतानुसार मतदान केंद्रों तक पहुंचाने के लिए पृथक से इंतजाम किया जाएगा।

बढ़ेगा आत्मविश्वास

उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजीव पांडेय ने कहा कि दिव्यांग केंद्रों में मतदान दल में दिव्यांगों की ड्यूटी लगाने से दिव्यांग मतदाताओं का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे मतदान के लिए प्रेरित होंगे। वहां दिव्यांगों के लिए जरूरी सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी।

Next Story
Top