Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Lok Sabha Elections 2019 Date : लोकसभा चुनाव 2019 कब है, संशय खत्म, मार्च में 6-7 चरणों में होंगे चुनाव : EC

चुनाव आयोग मार्च के पहले सप्ताह में लोकसभा चुनाव 2019 के कार्यक्रम की घोषणा कर सकता है। चुनाव आयोग के सूत्रों ने शुक्रवार को यह संकेत देते हुए लोकसभा चुनाव के साथ कुछ राज्यों के विधानसभा चुनाव भी कराने की संभावना व्यक्त की है।

Lok Sabha Elections 2019 Date : लोकसभा चुनाव 2019 कब है, संशय खत्म, मार्च में 6-7 चरणों में होंगे चुनाव : EC

Lok Sabha Elections 2019 Date

लोकसभा चुनाव 2019 की तारिख (Lok Sabha Elections 2019 Date) को लेकर चुनाव आयोग स्थिति साफ़ कर दी है, लोकसभा चुनाव 2019 कब है..? लोकसभा चुनाव 2019 में कब होगा..? अगर आपके मन में भी यही सवाल है तो आपको बता दें कि चुनाव आयोग (Election Commission of India) के सूत्रों मिली जानकारी के अनुसार चुनाव आयोग मार्च के पहले सप्ताह में लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के कार्यक्रम की घोषणा कर सकता है। चुनाव आयोग के सूत्रों ने शुक्रवार को यह संकेत देते हुए लोकसभा चुनाव के साथ कुछ राज्यों के विधानसभा चुनाव भी कराने की संभावना व्यक्त की है। उल्लेखनीय है कि मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल आगामी तीन जून को खत्म होगा।

इसके मद्देनजर आयोग ने चुनाव किस महीने में और कितने चरण में कराये जाने हैं, यह तय करने की प्रक्रिया शुरु कर दी है। आयोग ने 2004 में लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की 29 फरवरी को चार चरण में, 2009 में दो मार्च को पांच चरण में और 2014 में पांच मार्च को नौ चरण में कराने की घोषणा की थी।

पिछले तीनों लोकसभा चुनाव अप्रैल से मई के दूसरे सप्ताह में संपन्न करा लिये गये। सूत्रों ने बताया कि आम चुनाव का समय और चरण तय करने की प्रक्रिया शुरु हो गयी है।

सूत्रों ने इस बात से भी इंकार नहीं किया कि लोकसभा चुनाव के साथ ही आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में भी विधानसभा चुनाव कराने की संभावना पर विचार किया जा सकता है।

सिक्किम विधानसभा का कार्यकाल आगामी मई तथा आंध्र प्रदेश, ओडिशा और अरुणाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल आगामी जून में पूरा हो रहा है। इस बीच जम्मू कश्मीर विधानसभा भी पिछले साल नवंबर में भंग किये जाने के कारण नई विधानसभा के गठन की छह महीने की निर्धारित अवधि इस साल मई में पूरी होने से पहले चुनाव आयोग के लिये राज्य में चुनाव कराना अनिवार्य है।

जम्मू कश्मीर में चुनाव कराने का फैसला हालांकि राज्य में पुख्ता सुरक्षा इंतजामों की पुष्टि पर ही निर्भर है। जम्मू कश्मीर विधानसभा का छह साल का निर्धारित कार्यकाल 16 मार्च 2021 तक था लेकिन बहुमत वाली सरकार के गठन की संभावनायें समाप्त होने के आधार पर इसे नवंबर 2018 में ही भंग कर दिया गया।

Share it
Top