Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कांग्रेस का बड़ा दांव, 9 फरवरी को सोनिया गांधी देंगी विपक्ष को डिनर पार्टी

साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्षी दल अभी से तौयारियों में जुट गया है।

कांग्रेस का बड़ा दांव, 9 फरवरी को सोनिया गांधी देंगी विपक्ष को डिनर पार्टी

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी ने पहले से ही तैयारियां शुरू कर दी है। वहीं अब कांग्रेस ने भी बड़ा दांव खेलते हुए पूरे विपक्ष को डिनर पार्टी के लिए निमंत्रिण भेजा है।

2019 में होने वाले लोकसभा के चुनाव के लिए सरकार की ओर से विपक्षी दल के लिए आक्रमण प्रचार रणनीति का सामना करने के लिए विपक्ष भी अपनी ओर से तैयारी में जुट गया है। मोदी के विरोधी विपक्षी गुटों में नए चेहरे की होड़ लगी हुई है।

लोक सभा चुनाव के लिए बीजेपी पहले से ही अपनी तैयारी कर चुकी है। इसके लिए विपक्ष भी अपनी कमर कस्ती नजर आ रही है। मोदी जी की विपक्ष की ओर से खड़े होने वाले चेहरे को देखने के लिए कार्यकर्ताओं में होड़ लग गई है।
दस सालों तक केंद्र की सत्ता में रही यूपीए के लिए सोनिया गांधी का चेहरा सामने था लेकिन अब पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि वह अब दूसरी पंक्ति में बैठने वाली नेता बनकर नहीं रहने वाली। इस बीच बजट से ठीक एक दिन पहले सोनिया गांधी ने बुधवार को अपने आवास पर डिनर पार्टी का आयोजन किया है।
कांग्रेस ने भी इस हफ्ते संसदीय बोर्ड नेताओं ने विपक्ष को एकजुट करने के उद्देश्य से अलग-अलग पार्टियों के साथ बैठक की। बुधवार को विपक्ष के नेता शरद पवार से फिर से मुलाकात करने जा रहे हैं।
सूत्रों ने बताया है कि कांग्रेस होने पर ममता बनर्जी से संपर्क करने को कहा है साथ ही उनसे वक्त मांगा है। ताकि संयुक्त खेमें की बैठक में शामिल हो सके। दूसरी ओर बनर्जी ने बैठक में शामिल होने के लिए अपनी असमर्थता जताई है। और ये कहा कि उनकी पार्टी की ओर से डेरेक-ओ-ब्रायन और सुदीप बंदोपाध्याय हिस्सा लेंगे।
पहले भी शरद पवार अपने आवास में विपक्ष के लोगों के साथ बैठकर कर चुके हैं। वहां भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा और गुलाम नबी आजाद ने सोनियां गांधी के चेहरे को विपक्ष की तरफ खड़े होने वाला चेहरा बताया है। वहीं दूसरी ओर 2017 में राष्ट्रपति चुनाव में मीरा कुमार को समर्थन देने और गुजरात चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन में हुए सुधार से ममता का रवैया बदल गया है।
सरद पवार के घर विपक्षी दलों की बैठक में हिस्सा लेने के बाद कांग्रेस ने औपचारिक बयान जारी कर कहा कि यूपीए की चेयरपर्सन अभी भी सोनिया गांधी हैं। कांग्रेस ने इस संदेश के साथ स्पष्ट कर दिया कि भले ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हों, लेकिन सोनिया की सक्रियता बनी हुई है।
इतना ही नहीं कांग्रेस ने महाराष्ट्र के कद्दावर नेता शरद पवार को भी संकेत दे दिया कि विपक्ष के खाली स्थान पर कांग्रेस मजबूती से टिकी हुई है।
Share it
Top