Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PM मोदी ने असम, पूर्वोत्तर में घुसपैठ की समस्याओं के लिए कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस की नीतियों के चलते असम और शेष पूर्वोत्तर घुसपैठ का सामना कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि चौकीदार के रूप में वह इस मुद्दे का हल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

PM मोदी ने असम, पूर्वोत्तर में घुसपैठ की समस्याओं के लिए कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस की नीतियों के चलते असम और शेष पूर्वोत्तर घुसपैठ का सामना कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि चौकीदार के रूप में वह इस मुद्दे का हल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह जनसंघ और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे कद्दावर नेता थे, जिन्होंने बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के दौरान बांग्लादेश के समर्थन में अपनी आवाज उठाई थी।
उन्होंने असम के गोहपुर में दो चुनाव रैलियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘कांग्रेस ने हमेशा ही असम के लोगों को छला है और यदि सरदार (वल्लभभाई) पटेल और (असम के प्रथम मुख्यमंत्री) गोपीनाथ बारदोलोई ने विभाजन के समय मजबूत रुख नहीं अख्तियार किया होता तो असम की पहचान वैसी नहीं रहती जैसा कि आज है।'
मोदी ने 1962 के चीन के आक्रमण का परोक्ष जिक्र करते हुए कहा कि सिर्फ तेजपुर और सशस्त्र बलों की बदौलत राज्य बच पाया। उन्होंने कहा, ‘‘ यह ‘चौकीदार' घुसपैठ, आतंकवाद और भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए तथा राज्य के लोगों की गरिमा सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है।'
मोदी ने विपक्षी गठबंधन को महामिलावट करार दिया। उन्होंने अहोम कमांडर लचित बारफुकन के इस ऐतिहासिक उद्धरण का जिक्र किया कि मामा या चाचा राष्ट्र से बड़े नहीं हैं।
मोदी ने चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस के सभी मामा देश से बड़े हैं, जैसा कि यह मिशेल मामा (वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले में गिरफ्तार क्रश्चिचियन मिशेल), क्वात्रोच्चि मामा (बोफोर्स घोटाले से संबद्ध बिचौलिया ओतावियो क्वात्रोच्चि) आदि से जाहिर होता है जिनके लिए उन्होंने राष्ट्र को दांव पर लगा दिया।
उन्होंने कहा, ‘‘आपने इस चौकीदार पर स्नेह बरसाया है। आपने इससे पहले असम से एक प्रधानमंत्री (मनमोहन सिंह) भेजा था जो अब लोगों को याद तक नहीं हैं।'
मोदी ने इससे पहले मोरन में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि लोग भाजपा सरकार से खुश हैं लेकिन कांग्रेस और आतंकवादी काफी चिंतित हैं। पहली बार सरकार आतंकवादियों के घर में घुसी और उन पर हमला किया। लेकिन इससे सिर्फ दो तबका खुश नहीं है - वह कांग्रेस का परिवार और आतंकियों का दरबार है।
उन्होंने कहा कि राजग सरकार असम समझौता के प्रति प्रतिबद्ध है। असम समझौता में मार्च 1971 के बाद असम में आने वाले सभी अवैध प्रवासियों को वहां से बाहर करने का प्रावधान है, चाहे वह किसी भी धर्म से संबंधित क्यों ना हों।
उन्होंने कहा, ‘‘हमलोग असम के लोगों, उसकी संस्कृति और हितों की सुरक्षा के लिये प्रयास कर रहे हैं। राजग छह समुदायों - टाई अहोम, मोटक, मोरन, शुटिया, कुशराजवंशी और साहजन गोष्‍ठी (टी-ट्राइब्स) को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने पर गंभीरता से विचार कर रहा है।'
विपक्षी कांग्रेस पर बरसते हुए उन्होंने कहा कि असम में जहां आजादी के बाद कई दशक तक सिर्फ 40 प्रतिशत घरों में बिजली और गैस कनेक्शन था, वहां अब लगभग हर घर में बिजली और रसोई गैस है।
चाय बगानों में काम करने वाले लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘सिर्फ एक ‘चायवाला' ही अपने साथी ‘चायवालों' का दर्द समझ सकता है।'
प्रधानमंत्री ने अपना भाषण शुरू करने से पहले मशहूर संगीतकार भूपेन हजारिका को श्रद्धांजलि दी। असम में सभी 14 लोकसभा सीटों के लिये मतदान तीन चरणों में 11, 18, 23 अप्रैल को होंगे। मतगणना 23 मई को होगी।
Next Story
Top