Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ऑनलाइन ठगी पर खाते से पैसा कटते ही 155260 पर कॉल करें, लौट आएगा पैसा

लगातार बढ़ते सायबर अपराध के बीच कहीं आप भी ऑनलाइन ठगी का शिकार हो गए है तो डरने की आवश्यकता नहीं है। किसी भी तरह की ऑनलाइन ठगी होने पर आपका पैसा ट्रांजेक्शन के बाद भी लौट आएगा, लेकिन उसके लिए आपकों 155260 नंबर पर कॉल करना होगा। यह टेलीफोन नंबर स्टेट सायबर क्राइम पुलिस, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) समेत सभी बैंकिंग सेक्टर फायनेंसियल ट्रांजेक्शन से जुड़ा हुआ है। वशर्ते समय पर कॉल करना पड़ेगा।

ऑनलाइन ठगी पर खाते से पैसा कटते ही 155260 पर कॉल करें, लौट आएगा पैसा
X


प्रकाश भोमरकर

ऑनलाइन ठगी पर खाते से पैसा कटते ही 155260 पर कॉल करें। आपका पैसा लौट आएगा। ट्रांजेक्शन आईडी और कुछ जानकारी देते ही पैंमेंट पर लगेगा होल्ड, पांच महीने में अब तक करोंड़ों रुपए कराए वापस हुए हैं। दरअसल, यह नंबर मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर (एमएचए) द्वारा पांच महीने पहले जारी किया गया है। इस नंबर पर कॉल करते ही आॅनलाइन ठगी का रुपए आपके खाते में आसानी से लौट आएगा, लेकिन इस नंबर का 155260 अधिकतर लोगों को पता नहीं है। यूपीआई और अन्य लेनदेन के लिए यदि आप कोई एप्लीकेशन का इस्तेमाल करते हैं तो आपकों ट्रांजेक्शन आइडी समेत उस नंबर की ट्रांजेक्शन आईडी का ज्ञान होना जिस पर ट्रांजेक्शन हुआ है।

कुछ ही जानकारी नंबर पर करें साझा

इस नंबर पर कॉल करते ही आपका संपर्क राज्य सायबर क्राइम पुलिस के उस अधिकारी से होगा, जो आपकी समस्या का समाधान करने के लिए मौजूद है। वह आपसे कुछ जानकारियां लेगा और आपके खाते में आपका कटा हुआ बैंक बैलेंस लौट आएंगा। इसके अलावा जिसके खाते में पैमेंट हुआ है उस व्यक्ति की भी जानकारी पुलिस आसानी से जुटा सकेगी। ताकि सायबर ठग तक पहुंचा जा सकेगा।

केवल इन जानकारियों को करें साझा

155260 पर कॉल करते ही सायबर का नोडल अधिकारी आपसे कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां पूछेगा जैसे की आपका नाम, आपका अकाउंट नंबर, आपका वह मोबाइल नंबर जो बैंकिंग लेनदेन के लिए आपने जोड़ा है। इसके अलावा ट्रांजेक्शन आईडी भी आपसे पूछी जाएगी। आपसे पिन नहीं पूछा जाएगा और आपकों को अपना पिन नंबर नहीं बताना है। जानकारी देते ही पैमेंट स्टाप होकर आपका पैसा आपके खाते में आसानी से लौटाया जा सकेगा।

देरी होने पर भी कर सकते हैं यहां शिकायत

यदि आपकों कॉल करने पर देरी हो जाती है तो भी आपकों संबंधित अधिकारी समाधान बताते हुए शिकायत के लिए नेशनल सायबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया बताएगा।

पांच महीने से अब तक कई शिकायतों का समाधान

सायबर ठगी से जुड़ी शिकायतें इस नंबर पर प्रतिदिन आ रही है और उसका समाधान भी किया जा रहा है, लेकिन सवाल इस बात का है कि इस काम के नंबर 155260 की जानकारी काफी कम लोगों के पास है। मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में लगातार बढ़ते हुए सायबर फ्रॉड में यह नंबर काफी उपयोगी साबित हो रहा है।

इस तरह की धोखाधड़ी से बचे

- नौकरी के नाम पर यदि कोई कॉल आता है तो समझ जाएं हो सकती है ठगी।

- केवायसी के नाम या फिर एटीएम बंद होने या फिर खाता बंद होने की स्थिति में बैंक से कभी कॉल नहीं आते।

- यूपीआई पैमेंट का कोई कॉल सेंटर नंबर नहीं है यदि किसी नंबर से कॉल आता है तो समझा जाए की आपके साथ कोई फ्रॉड कर रहा है।

- लॉटरी और उपहार के नाम पर प्रोसेसिंग फीस न दें।

- डिफेंस का कर्मचारी बनकर कोई यदि आपको अपना वाहन औने पौने दामों में बेचना चाहता है तो उससे सावधान रहें।

- केवल अधिकृत वेबसाइट पर विश्वास करें। अपना वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) और पिन किसी से साझा न करें।

- डेटिंग एप्प और नए नंबर से वीडियो कॉलिंग अटैंड न करें।

- किसी भी लिंक को खोलने के बाद उस पर अपनी जानकारियां अपलोड करने से बचें।

- सोशल मीडिया पर कोई रिश्तेदार या परिचित आपसे पैसों की मांग करता है तो उसे कॉल कर या व्यक्तिगत मिलकर बात करें फिर ही भुगतान करें।


Next Story