Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीबीआई घूसकांड: अलोक वर्मा के बाद राकेश अस्थाना भी केंद्र के खिलाफ पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

सीबीआई में चल रहे घूसकांड को घमासान के बीच सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा के बाद सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने भी केंद्र सरकार द्वारा उनके अधिकार वापस लेने और उन्हें छुट्टी पर भेजने के आदेश को चुनौती देने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

सीबीआई घूसकांड: अलोक वर्मा के बाद राकेश अस्थाना भी केंद्र के खिलाफ पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

सीबीआई में चल रहे घूसकांड को घमासान के बीच सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा के बाद सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना ने भी केंद्र सरकार द्वारा उनके अधिकार वापस लेने और उन्हें छुट्टी पर भेजने के आदेश को चुनौती देने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में आज सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई हुई। उन्होंने भी केंद्र सरकार द्वारा उनके अधिकार वापस लेने और उन्हें छुट्टी पर भेजने के आदेश को चुनौती दी थी।

गौरतलब है कि मंगलवार की देर रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की नियुक्ति समिति से जारी आदेश के तहत, सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया और एम नागेश्वर राव को जांच एजेंसी का तत्काल प्रभाव से प्रभारी निदेशक नियुक्त कर दिया गया। इसके अलावा सरकार ने सीबीआई के कई अधिकारियों का भी तबादला कर दिया। एजेंसी में वर्मा और अस्थाना के बीच टकराव चल रहा था।

गौरतलब है कि जिस तरह से अभी कुछ दिनों से सीबीआई में घमसान चल रहा है। इससे सीबीआई के प्रति विश्वास में कमी जरूर आयेगी। देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी में ऐसा होना ठीक नहीं है, क्योंकि देश में अगर किसी एजेंसी के ऊपर सबसे ज्यादा भरोसा है, तो वह है सीबीआई। ऐसे में उसके शीर्ष अधिकारियों के ऐसे व्यवहार राष्ट्रहित में नहीं हैं।

सर्वविदित है कि जब किसी को न्याय पाने में जरा-सा भी संदेह होता है, तो वह सीबीआई की ओर देखता है। उस पर भरोसा करता है। उसकी जांच पर सभी को विश्वास होता है। उसी सीबीअाई के शीर्ष अधिकारियों का आपराधिक कृत्य के दायरे में आना निश्चय देश के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।

अब जरूरी है कि इन अधिकारियों से जुड़े जितने भी मामले हैं, उन सभी को पूरी पारदर्शिता के साथ जल्द-से-जल्द निबटाया जाये। यह पूरा मामला हमारे देश को लज्जित करने वाला भी है, क्योंकि दूसरे देशों के लोग भी इसे देख-सुन रहे हैं, इसलिए पूरे मामले का जल्द-से-जल्द समाधान किया जाना चाहिए।

Next Story
Top