Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राम रहीम केस: सुनवाई खत्म, कोर्ट ने जारी किए ये निर्देश, जानिए पूरा मामला

कोर्ट परिसर के बाहर पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है।

राम रहीम केस: सुनवाई खत्म, कोर्ट ने जारी किए ये निर्देश, जानिए पूरा मामला
X

पूरा सच के संपादक पत्रकार रामचंद्र छत्रपति और पूर्व डेरे के पूर्व सदस्य रंजीत सिंह की हत्या के मामले में राम रहीम के खिलाफ पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में सुनवाई पूरी हो गई है। सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई। राम रहीम के खिलाफ कई अदालतों में करीब आधा दर्जन संगीन मामले चल रहे हैं। जिनमें सख्त सजा का प्रावधान है।

वहीं जज ने दोनों केसों की अलग अलग सुनवाई को निर्देश दिए हैं। पत्रकार छत्रपति मर्डर केस की सुनवाई अब 22 सितंबर को होगी। रणजीत सिंह मर्डर केस की सुनवाई 18 सितंबर को होगी।

न्यायाधीश जगदीप सिंह ने की केस की सुनवाई

बाबा राम रहीम केस की सुनवाई सीबीआई के विशेष जज जगदीप सिंह करेंगे। इससे पहले जगदीप सिंह 25 अगस्त को साध्वियों के साथ यौन शोषण केस में 20 साल की सजा सुनाई थी।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बाबा की पेशी

डेरा सच्चा सौदा के वकील एसके गर्ग ने बताया कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सुनारिया जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया।

ये है मामला

ये दोनों मामले पत्रकार छत्रपति और डेरे के पूर्व मैनेजर रंजीत की हत्या से जुड़े हैं। 24 अक्तूबर 2002 को सिरसा के सांध्य दैनिक 'पूरा सच' के संपादक रामचन्द्र छत्रपति को उनके घर के बाहर गोलियों से छलनी कर दिया गया था। 21 नवम्बर 2002 को छत्रपति की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी।

सीबीआई ने दर्ज की थी एफआईआर

इस मामले में 10 नवम्बर 2003 को सीबीआई ने डेरा प्रमुख के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की थी। आरोप है कि रामचन्द्र छत्रपति ने बाबा के खिलाफ अपने अखबार पूरा सच में खबर छापी थी। जिस कारण उनकी हत्या कर दी गई।

ये है दूसरा मामला

दूसरा मामला 10 जुलाई 2002 का है, जब डेरा प्रबंध समिति सदस्य रहे रणजीत सिंह की हत्या की गई थी। दरअसल, डेरा प्रबंधन को रंजीत सिंह पर साध्वी का पत्र तत्कालीन प्रधानमंत्री तक पहुंचाने का शक था। इन दोनों ही मामलों में 16 सितम्बर 2017 को सीबीआई कोर्ट में सुनवाई होनी है। इन दोनों ही मामलों में गुरमीत राम रहीम को मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर सीबीआई ने नामजद किया है।

कोर्ट के बाहर पैरामिलिट्री फोर्स तैनात

वहीं इस अहम सुनवाई के मद्देनजर हरियाणा पुलिस ने पंचकूला कोर्ट परिसर के आसपास सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं। कोर्ट की तरफ जाने वाले रास्तों पर हरियाणा पुलिस के साथ पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है। इस अहम सुनवाई के दौरान कानून-व्यवस्था की स्थिति ना बिगड़े, इसके लिए तमाम बंदोबस्त किए गए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top