Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

यहां फ्रीजर में पड़ी है ISIS के एक हजार लड़ाकों की लाश, कोई नहीं है अंतिम संस्कार करने वाला

लीबिया के मिसराता शहर की एक जगह लगभग एक हजार डीप फ्रीजर कंटेनर रखे हुए हैं।

यहां फ्रीजर में पड़ी है ISIS के एक हजार लड़ाकों की लाश, कोई नहीं है अंतिम संस्कार करने वाला

लीबिया के मिसराता शहर की एक जगह लगभग एक हजार डीप फ्रीजर कंटेनर रखे हुए हैं। इन कंटेनर्स में पिछले एक साल में मरे आतंकी संगठन ISIS के लगभग हजार लड़ाकों की लाशें सहेज कर रखी गईं हैं।

ये उन लड़ाकों की लाश है जिन्हें सीरिया में अमेरिकी फौजों ने पिछले 1 साल से चल रही जंग में मारा है। जंग में मौत के बाद ये लाशें पिछले 1 साल से अंतिम संस्कार के इंतजार में हैं।

इन कंटेनरों की देख-रेख करने वाले अली तुवैलेब कहते हैं कि यहां तापमान -18 से -20 डिग्री रखना पड़ता है। नहीं तो ये लाशें सड़ जाएंगी। अली के पास यहां मौजूद सभी लाशों का डीएनए सैंपल हैं। इसके साथ ही मरने वालों की तस्वीरें भी है।

यह भी पढ़ें- प्रद्युम्न मर्डर केस: इस रिपोर्ट से तय होगा कि आरोपी को नाबालिग या वयस्क की तरह किया जाए ट्रीट

ऐसा इसलिए क्योंकि अगर कोई इन लाश पर दावा करे तो पहचान कराने के बाद उसे सही लाश सौंपी जा सके। अली का कहना है कि पिछले एक साल में कोई भी व्यक्ति इन लाशों को लेने नहीं आया है।

संसाधनों के अभाव से जूझ रहे सीरिया में इन डेड बॉडीज को सहेज कर रख पाना अली के एक बड़ी चुनौती है।

अली ने बताया कि ये फ्रीजर प्राइवेट कंपनी से किराये पर लिए गए हैं। इन कंटेनरों को ठंडा रखने के लिए लगातार बिजली सप्लाई की जरूरत होती है। लेकिन गर्मियों के दिनों में लाइट जाने पर जेनेरेटर की व्यवस्था करनी पड़ती है।

वेबसाइट ईएनसीए के अनुसार, पिछले साल दिसंबर में अमेरिकी फौजों ने बगदाद के लड़ाकों के खिलाफ जब अभियान शुरू किया तो वहां बड़ी संख्या में लड़ाके मारे गए। वहां कई लाशों को कब्र खोद कर दफनाया गया।

वहीं इस मामले पर लीबिया के अधिकारियों का कहना है कि उनके पास इतने फ्रीजर नहीं वरना वो डेड बॉडीज को यहीं रखते। लाशों की देख रेख कर रहे अली ने सारी लाशों की डिटेल लीबिया की राजधानी त्रिपोली में सरकारी अधिकारियों को दे दी है।

इसके बाद अब सरकारी अधिकारियों को तय करना है कि इन लाशों का अंतिम संस्कार कब, कहां और कैसे करना है।

Next Story
Top