Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें क्या है लालू एंड फैमिल की IRCTC राम कहानी

IRCTC होटल मामले मे पटियाला हाउस कोर्ट ने सीबीआई की नोटिस के आधार पर लालू यादव के खिलाफ समन जारी किया है। कोर्ट ने लालू यादव को 31 अगस्त तक कोर्ट में पेश होने के लिए भी कहा है।

जानें क्या है लालू एंड फैमिल की IRCTC राम कहानी

चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव की मुश्किले और भी बढ़ती दिख रही है। दिल्ली पटियाला हाउस कोर्ट ने समन जारी किया है। कोर्ट ने लालू यादव, राबड़ी यादव और तेजस्वी यादव को 31 अगस्ता को कोर्ट में पेश होने को कहा है।

लालू यादव, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के खिलाफ समन जारी किया है। लालू परिवार के तीनों सदस्य पर आईआरसीटीसी के दो होटल के टेंडर में हेराफेरी का आरोप है। पटियाला हाउस कोर्ट ने सोमवार को लालू एंड फैमिली के खिलाफ सीबीआई की ओर से दायर चार्जशीट पर संज्ञान लिया है। लालू एंड फैमिली सहित 14 लोग आरोपी हैं।

इसे भी पढ़ें- लालू की बहू की राजनीति में होगी एंट्री! निमंत्रण पत्र से तेजप्रताप नाम गायब

पूरा मामला

1-यह मामला इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आईआरसीटीसी) द्वारा रांची और पुरी में चलाए जाने वाले दो होटलों की देखरेख का काम सुजाता होटल्स नाम की कंपनी को देने से जुड़ा है।

2-सीबीआई ने 16 अप्रैल को पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव और इससे जुड़े अन्य लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी।

3-पिछली सुनवाई में सीबीआई ने कोर्ट को बताया था कि आईआरसीटीसी के पूर्व जीएम बीके अग्रवाल के खिलाफ केस चलाने की अनुमति मिल गई है।

4-आरोप है कि लालू प्रसाद यादव के रेल मंत्री रहते आईआरसीटीसी द्वारा संचालित दो होटलों के रखरखाव का काम विनय और विजय कोचर द्वारा संचालित सुजाता होटल को दे दिया गया था।

5-विनय और विजय कोचर इस कंपनी के मालिक हैं। इसके बदले एक बेनामी कंपनी डिलाइट मार्केटिंग वर्ष 2006 में पटना के पॉश इलाके में तीन एकड़ प्लाट दिया गया।

6-FIR में कहा गया था कि लालू ने निजी कंपनी को फायदा पहुंचाने के लिए अपने पद का दुरुपयोग किया। सुजाता होटल को ठेका मिलने के बाद 2010 और 2014 के बीच डिलाइट मार्केटिंग कंपनी का मालिकाना हक सरला गुप्ता से राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव के पास आ गया।

7-इस दौरान लालू रेल मंत्री के पद से इस्तीफा दे चुके थे।

Next Story
Top