Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नीतीश से गठजोड़ का BJP को मिला फायदा, मुस्लिम वोट बैंक की खत्म जरूरत

नीतीश द्वारा बीजेपी को हाथ थामने के कई राजनैतिक अर्थ निकाले जा रहे हैं।

नीतीश से गठजोड़ का BJP को मिला फायदा,  मुस्लिम वोट बैंक की खत्म जरूरत

नीतीश ने इस्तीफा देने के बाद बीजेपी के साथ गठजोड़ कर सत्ता में धमाकेदार वापसी की है। हालांकि नीतीश द्वारा बीजेपी को हाथ थामने के कई राजनैतिक अर्थ निकाले जा रहे हैं।

इस राजनैतिक गठजोड़ से यह सिद्ध हो गया ही कि बीजेपी को चुनावी फतह के लिए मुस्लिम वोट बैंक पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं है और ना ही किसी दूसरी पार्टी से गठजोड़ की।

इसे भी पढ़ें: VIDEO: कोई भी मुसलमान 'वंदे मातरम्' कभी नहीं गाएगा: अबु आजमी

उल्लेखनीय है कि 2015 में हुए बिहार चुनाव के दौरान RJD और JDU ने BJP के खिलाफ 'सांप्रदायिक' ताकतों से लड़ने के नाम पर ही अपना चुनावी झंडा बुलंद किया था और सत्ता में आए थे।

लेकिन नीतीश ने जिस तरह से पाला बदल कर बीजेपी का दामन थाम लिया है उससे यही समझ में आता है कि उन्होंने भी बीजेपी के क़दमों पर चलते हुए मुस्लिम वोटरों को नजरअंदाज करने की गणित को सही मान लिया।

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल में बाढ़ से 12 की मौत, राजस्थान में भारी बारिश की संभावना

नीतीश और बीजेपी पहले भी गठबंधन पार्टनर रह चुके हैं और दोनों ने मिलकर 2010 के चुनाव में आरजेडी को 22 सीटों पर समेट दिया था।

Next Story
Share it
Top