Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शहीद जवान के पिता ने पूछा केंद्र से सवाल

सरकार ने कहा है कि आतंकी और नक्सलियों से निपटने के लिए सख्त कदम उठा रही है और देश के दुश्मनों को मुहंतोड़ जवाब दिया जाएगा।

शहीद जवान के पिता ने पूछा केंद्र से सवाल

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आर्मी कैंप पर हुए हमले में सेना जवानों के शहीद होने और सुकमा में नक्सली हमलो के बाद जवानों के परिजनों ने सरकार से सवाल किया है कि देश आखिर कब तक अपने बेटे खोता रहेगा?

कुपवाड़ा हमले में कैप्टन आयुष यादव भी आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए थे। पूरा देश जवानों की शहादत को सलाम कर रहा है।

लेकिन अब देश के सामने एक सवाल खड़ा हो गया है कि आखीर देश कब तक इस तरह अपने बहादुर बेटों को खोता रहेगा।

इसको लेकर शहीदों के परिजनों ने सरकार से सवाल पूछने भी शुरू कर दिए हैं।

शहीद जवानों के परिजन सरकार से तीखे सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर कब तक वो अपने बेटों को खोते रहेंगे।

सरकार से शहीद के पिता का सवाल

कुपवाड़ा हमले में शहीद आयुष यादव के पिता ने सरकार से पूछा है कि हमने तो देश के लिए अपना बेटा खो दिया है, लेकिन देश आखिर कब तक अपने बेटों को इस तरह खोता रहेगा ?

आयुष के पिता ने कहा कि आयुष उनका इकलौता बेटा था और वो भी अपने देश के लिए शहीद हो गया है। अब वो क्या करेंगे, किसके सहारे जियेंगे।

आयुष ने बुधवार को अपने पिता से फोन पर बात की थी और उन्हें घुमने के लिए कश्मीर बुलाया था। जब पिता ने आयुष से पूछा कि वहां तो पत्थरबाजी होती है, तो इस पर आयुष हंसने लगा था।

सुकमा का दर्द

आपको बता दें कि अभी दो दिन पहले ही सुकमा में भी एक नक्सली हमला हुआ था। इस हमले में भी सीआपीएफ के 26 जवान शहीद हो गए थे।

जवानों की शहादत के बाद उनके भी परिजनों ने सरकार से यही सवाल पूछा था, देश आखिर कब तक अपने बेटों को इस तरह खोता रहेगा।

हालांकि इस मामले में सरकार ने कहा है कि वो आतंकी और नक्सलियों से निपटने के लिए सख्त कदम उठा रही है और देश के दुश्मनों को मुहंतोड़ जवाब दिया जाएगा।

Next Story
Top