Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्नाटक में अभी बाकी है ''नाटक'', किसे कौन सा मंत्रालय मिलेगा, आज होगा तय

कर्नाटक में अब जेडीएस और कांग्रेस के बीच सरकार में साझेदारी को लेकर टकराव की बातें सामने आ रही हैं। कुमारस्वामी ने सरकार में 30-30 महीने के बंटवारे का फॉर्मूला खारिज कर दिया है।

कर्नाटक में अभी बाकी है

कर्नाटक में अब जेडीएस और कांग्रेस के बीच सरकार में साझेदारी को लेकर टकराव की बातें सामने आ रही हैं। कुमारस्वामी ने सरकार में 30-30 महीने के बंटवारे का फॉर्मूला खारिज कर दिया है। वहीं, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि सभी मूल्यों को ध्यान में रखते हुए हमें सत्ता में हमारा हिस्सा मिलना चाहिए।

अब मंत्रिमंडल में बंटवारे के मुद्दे पर चर्चा के लिए कुमारस्वामी दिल्ली में राहुल गांधी से मिलने उनके घर पहुंचे। बुधवार को कुमारस्वामी का शपथग्रहण होना है।

जेडीएस-कांग्रेस सत्ता में 30-30 महीने की साझेदारी करने की खबरें हैं। कुमारस्वामी से इसी पर सवाल किया गया था। इस पर उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं हुई है।

यह भी पढ़ेंः कुमारस्वामी के शपथग्रहण में कांग्रेस नेताओं के साथ मंच साझा करेंगे येचुरी

कुमारस्वामी ने सोमवार को सोनिया और राहुल गांधी से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि मैंने दोनों नेताओं से शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहने का निवेदन किया, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है।

गौरतलब है कि कुमारस्वामी 23 मई को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बनेंगे। हालांकि इस चर्चा के दौरान मंत्रिमंडल की तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। माना जा रहा है कि कांग्रेस के 2 डिप्टी सीएम हो सकते हैं। दोनों नेताओं के बीच मंत्रालयों के बंटवारे पर भी चर्चा हुई। बता दें कि कर्नाटक में जनता दल (एस) और कांग्रेस मिलकर सरकार बनाने जा रहे हैं।

मायावती से मुलाकात

सोनिया-राहुल से पहले कुमारस्वामी ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती से भी मुलाकात की। कर्नाटक में सरकार गठन के लिए चर्चा करने दिल्ली पहुंचे कुमारस्वामी ने इस दौरान मायावती को बुधवार को मुख्यमंत्री पद की शपथग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया।

यह भी पढ़ेंः अमित शाह को संविधान का ज्ञान नहींः आनंद शर्मा

ऐसा है गणित

कांग्रेस के पास राज्य की 78 सीटें हैं जबकि जेडीएस के पास 37 विधायक हैं। मुख्यमंत्री पद के अलावा जेडीएस अपने पास महत्वपूर्ण मंत्रालय जैसे कि वित्त, पीडब्ल्यूडी और सिंचाई विभाग को रखना चाहता है।

कुमार अकेले लेंगे शपथ

कांग्रेस के महासचिव और कर्नाटक के प्रभारी केसी वेणुगोपाल ने कहा, बुधवार को अकेले कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद के तौर पर शपथ लेंगे। इसके बाद गुरुवार को फ्लोर टेस्ट होगा। उसी दिन स्पीकर का चुनाव भी होगा।

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक के नाटक में कंग्रेस की खुली पोल, कांग्रेसी विधायक ने कहा- भाजपा को फंसाने के लिए जारी किया था ‘फर्जी' ऑडियो

लिंगायतों ने मांगा डिप्टी सीएम पद

लिंगायतों की मांग है कि उन्हें उप-मुख्यमंत्री का पद दिया जाए। कांग्रेस में सबसे ज्यादा 16 लिंगायत विधायक हैं। वहीं जेडीएस के पास चार हैं। सूत्रों के अनुसार कांग्रेस ने जेडीएस को बिना शर्त समर्थन दिया है। इसी वजह से वह गठबंधन को बनाए रखने के लिए कोई मांग नहीं करेगी।

कांग्रेस की पसंद

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस ने निर्णय ले लिया है कि वह डिप्टी सीएम का पद दलित को देगी। इसके लिए परमेश्वर उनकी पहली पसंद हैं। ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि कर्नाटक में दो डिप्टी सीएम बन सकते हैं। एक कांग्रेस पार्टी से होगा तो दूसरा जेडीएस से।

यह भी पढ़ेंः Kumaraswamy In Delhi: कुमारस्वामी मायावती से करेंगे मुलाकात, सोनिया-राहुल को देंगे न्योता

कर्नाटक में स्थिर सरकार

जद (एस) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने कहा, कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन कर्नाटक में स्थिर सरकार देगा और सोनिया गांधी तथा राहुल गांधी के साथ मुलाकात के बाद सरकार गठन के तौर-तरीकों पर काम होगा।

कुमारस्वामी ने संवाददाताओं से कहा, हम स्थिर सरकार देने जा रहे हैं। इन सभी मुद्दों पर अभी चर्चा नहीं हुई है। हमने भविष्य के बारे में चर्चा नहीं की है।

उन्होंने कहा, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मुलाकात करने के बाद नयी सरकार बनाने के तौर-तरीकों पर चर्चा होगी।

विपक्षी नेताओं का जमावड़ा

कुमार स्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में 11 विपक्षी दलों के नेता या प्रतिनिधि शुमार होंगे। इसे 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले बड़े विपक्षी गोलबंदी के रूप में देखा जा रहा है।

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव, पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी, दिल्ली के अरविंद केजरीवाल जैसे नेता बंगलुरू के शपथ ग्रहण समारोह में जुटेंगे।

Next Story
Top