Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कुलभूषण जाधव मामला : ये हैं भारत के 5 मजबूत पक्ष, पाक हुआ अलग-थलग

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) ने मामले कुलभूषण जाधव मामले में सार्वजनिक सुनवाई के लिए 18 से 21 फरवरी तक का समय निर्धारित किया है।

कुलभूषण जाधव मामला : ये हैं भारत के 5 मजबूत पक्ष, पाक हुआ अलग-थलग
X

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) ने मामले कुलभूषण जाधव मामले में सार्वजनिक सुनवाई के लिए 18 से 21 फरवरी तक का समय निर्धारित किया है। यह सुनवाई द हेग, नीदरलैंड स्थित पीस पैलेस में हो रही है। भारत ने सोमवार को दलीलें दी थीं जिन पर पाकिस्तान ने मंगलवार को जवाब दिया।

भारत ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि पाकिस्तान इस मामले में उचित प्रक्रिया के न्यूनतम मानकों को भी पूरी करने में असफल रहा है। अब भारत आज यानी 20 फरवरी को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में जवाब देगा, जबकि इस्लामाबाद अपना समापन अभिवेदन 21 फरवरी को देगा। ऐसी उम्मीद है कि आईसीजे का फैसला 2019 की गर्मियों में आ सकता है।

कुलभूषण जाधव मामले पर भारत के 5 मजबूत पक्ष

* इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में कुलभूषण जाधव मामले में सुनवाई के पहले दिन भारत जाधव की मौत की सजा को निरस्त करने और उनकी तत्काल रिहाई के आदेश देने का आग्रह किया था।

* भारत ने कहा था कि पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा हास्यास्पद मामले के आधार पर दिया गया फैसला तय प्रक्रिया के न्यूनतम मानकों तक को पूरा करने में विफल रहा।

* भारत ने इस मामले में पहली बार 8 मई 2017 को आईसीजे से संपर्क कर कहा था और पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव तक राजनयिक पहुंच से बार-बार इनकार कर राजनयिक रिश्तों से संबंधित 1963 की विएना संधि का घोर उल्लंघन किया है।

* भारत का कहना है कि कुलभूषण जाधव का ईरान से अपहरण किया गया जहां वह सेवानिवृत्ति के बाद व्यवसाय करने गए थे। कुलभूषण जाधव को सजा सुनाए जाने पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी।

* पाकिस्तान का दावा है कि उसके सुरक्षाबलों ने कुलभूषण जाधव को अशांत बलूचिस्तान प्रांत से तीन मार्च 2016 को तब गिरफ्तार किया था जब उन्होंने ईरान से प्रवेश किया था। जिसको भारत ने पाकिस्तान के इस दावे को खारिज कर दिया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top