Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानिए राष्ट्रपति बनने से पहले प्रणब दा के दिल में क्या था

प्रणब मुखर्जी 1969 में पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए।

जानिए राष्ट्रपति बनने से पहले प्रणब दा के दिल में क्या था

बीते कल यानि रविवार को संसद के सेंट्रल हॉल में प्रणब मुखर्जी को विदाई दी जा रही थी । जिसके संबोधन में प्रणब मुखर्जी ने कहा कि लोकतंत्र के इस मंदिर ने मुझे बहुत सीख दी। इसके साथ ही प्रणब मुखर्जी अपने आप को नहीं रोक सके और अपने दिल की बात बयां कर दी ।

आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी 1969 में पहली बार राज्यसभा के लिए चुने गए । तो उनका आवास राष्ट्रपति भवन के पास ही था । एक दिन प्रणब दा अपनी बहन के साथ सैर कर रहे थे ।

इसे भी पढ़े :-राष्ट्र के नाम राष्ट्रपति का आखिरी संबोधनः अनेकता में एकता हमारी पहचान, नए राष्ट्रपति को दी शुभकामनाएं

इसी बीच प्रणब दा राष्ट्रपति वाली बग्घी को देखकर अपनी बहन से कहा कि देखो ये बग्घी कितना मजेदार है । इसक इसका मजा लेने के लिए मैं अगले जन्म में घोड़ा बनना पसंद करूंगा ।

जिस पर प्रणब दा कि बहन ने कहा कि ये तमन्ना इसी जन्म में पूरी होगी ।आपको बता दें कि प्रणब मुखर्जी तकरीबन 35 सालों तक राज्यसभा के सदस्य रहे। इस दरमयान प्रणब दा ने राजनीति के कई अनसुलझे पहलूओं को सुलझाया।

Next Story
Top