Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अखिलेश के वो फैसले, जिन्हें पलट दिया गया

पूरे 5 साल के कार्यकाल में अखिलेश को कई मौकों पर सार्वजनिक रूप से शर्मिंदगी उठानी पड़ी।

अखिलेश के वो फैसले, जिन्हें पलट दिया गया
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तो हैं लेकिन उनके पिछले पांच साल के कार्यकाल को देखा जाए तो कई मौकों पर पिता मुलायम सिंह यादव ने उनके फैसले पलट दिए। मुलायम द्वारा फैसले पलटने की वजह से अखिलेश को सार्वजनिक तौर पर शर्मिंदगी भी उठानी पड़ी। आइए जानते हैं उन फैसलों के बारे में..
1. कुंडा हत्याकांड के बाद अखिलेश बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को शामिल नहीं करना चाहते थे लेकिन पिता मुलायम सिंह यादव के जिद के आगे उन्हें झुकना पड़ा।
2. अखिलेश यादव ने कैबिनेट बैठक में फैसला लिया था कि प्रदेश के सभी मॉल को रात में जल्दी बंद होंगे लेकिन कैबिनेट फैसला होने के बावजूद उन्हें इस फैसले को भी वापस लेना पड़ा।
3. अखिलेश यादव ने कैबिनेट बैठक में फैसला लिया था कि विधायक अपने फंड से 20 लाख रुपए तक की कार खरीद सकते हैं लेकिन इस फैसले का विरोध हुआ और उन्हें पीछे हना पड़ा।
4. 2012 के विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव ने इलाहाबाद से अतीक अहमद की राह रोक दी थी लेकिन 2014 लोकसभा चुनाव में अतीक को समाजवादी पार्टी से टिकट दिया गया।
5. विनोद सिंह उर्फ पंडित सिंह जो गोंडा में सीएमओ के साथ अभद्रता के मामले में चर्चा में आए थे। अखिलेश ने विनोद सिंह से इस्तीफा ले लिया था लेकिन फिर उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा और विनोद सिंह की बतौर कैबिनेट में वापसी हुई।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top