Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जल्द बदलेगा सऊदी, अब सूरज की गर्मी और हवा के झोंके बिखेरेंगे रौशनी

खालिद अल फालिह के नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री बनने के साथ ही सऊदी में पहले प्लांट की नीव रखी गई थी।

जल्द बदलेगा सऊदी, अब सूरज की गर्मी और हवा के झोंके बिखेरेंगे रौशनी
X

सऊदी अरब अपनी अर्थव्यवस्था की तेल पर निर्भरता कम कर अपने बाजार को उदार करने का ऐलान पहले ही कर चुका है। लेकिन सालों से तेल पर निर्भर अपनी अर्थव्यवस्था को अब पूरी तरह से बदलने की योजना के बारे में कार्य रहा है।

इसके लिए देश में नवीकरणीय ऊर्जा के चुनाव की योजना बनाई गई। देश में सौर ऊर्जा पर निर्भर और रोबॉट्स से चलने वाले 500 बिलियन डॉलर के फ्यूचर सिटी का खाका खींचा चुका है। अकेले नवीकरणीय ऊर्जा के लिए ही 300 मिलियन डॉलर का बजट तय किया गया है।

इसे भी पढ़ें- मालदीव संकट: दो भारतीय पत्रकार गिरफ्तार, सांसद ने कहा- प्रेस की स्वतंत्रता खत्म

ज्वाइंट आर्गेनाइजेशन डाटा इनिशिएटिव एंड मॉनीटरिंग फर्म के अनुसार अभी सऊदी में प्रति दिन 6 लाख 80 हजार बैरल तेल ऊर्जा जरूरतों के लिए रोज फूंका जा रहा है। जाहिर है भविष्य में तेल की उपलब्ब्धता दिनों-दिन कम ही होती जानी है।

भविष्य में देश के सामने ऊर्जा का संकट खड़ा न हो और उसकी शान भी बने रहे इसके लिए अभी नवीकरणीय ऊर्जा के उत्पादन के प्लांट लगना शुरू हो गए हैं। 2016 में खालिद अल फालिह के नवीकरणीय ऊर्जा का मंत्री बनने के साथ ही पहला प्लांट की नीव रखी गई।

क्योंकि यहां पर्याप्त मात्रा में सूर्य का प्रकाश और तेज हवाओं का प्राकृतिक संसाधन हैं जिसका लाभ लेने के लिए सौलर और वाइंड प्लांट तैयार किए जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- पानी पर पहरा: इस देश में नहाने पर लगाई रोक, जानें पूरा मामला

बनाया विजन सऊदी का प्लान

सऊदी किंगडम हजारों किलोमीटर रेगिस्तानी जमीन पर नए-नए शहर बसाने का प्लान कर चुका है। पिछले साल अप्रैल महीने में प्रिंस मोहम्मद ने 'सऊदी विजन 2030' की घोषणा की।

इसके तहत निजी क्षेत्र की नौकरियां बढ़ाना, महिलाओं को भी इसमें शामिल करना शामिल है। इन्वेस्टमेंट बढ़ाने के लिए सऊदी अरब ऑइल कॉर्पोरेशन अपने शेयर भी बेचने की तैयारी में है। साथ ही जिन महत्वाकांक्षी परियोजनाओं का ऐलान किया गया, उनमें लाल सागर सबसे अहम है।

सऊदी अरब ने लाल सागर (रेड सी) के तट पर 50 आइलैंड और 34,000 स्क्वैयर किमी. को ग्लोबल टूरिजम हब बनाने की योजना बनाई है। इस प्रॉजेक्ट का मकसद दुनियाभर के धनाढ्य पर्यटकों को आकर्षित करना है।

2023 तक बने 3 हजार लाख का सोलर प्लांट

नवीकरणी ऊर्जा के उत्पाद के लिए रियाद ने सोमवार को एक सऊदी ऊर्जा कंपनी एसीडब्ल्यूए पावर को एक सौर प्लांट बनाने की घाेषणा की है। इससे 200,000 घरों को बिजली मिल सकेगी।

राज्य के नवीकरणीय ऊर्जा कार्यक्रम के प्रमुख तुर्कि अल-शेहरी के मुताबिक परियोजना की लागत 300 मिलियन अमरीकी डॉलर होगी और इससे सैकड़ों नौकरियां भी पैदा होंगी। 2023 तक इस तरह के कई ऊर्जा प्लांट से देश में कुछ ऊर्जा जरूरतों का 10 फीसदी हासिल करने का लक्ष्य रखा गया है।

कुछ ऐसी ही बात एक मार्केट रिसर्च फर्म और ब्लूमबर्ग न्यू एनर्जी फाइनेंस के एक विश्लेषक, एमएस जेनी चेज़ ने भी कही है। वे मानते हैं सऊदी के विकास को दुनिया देख रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story