Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ई-वे बिल पर बोली व्यापारियों की संस्था, इस तरह से लागू करेंगे तो होगी आसानी

कन्फेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स ने कहा कि शुरू में ई-वे बिल प्रणाली उन कंपनियों के लिए होनी चाहिए जिनका कारोबार100 करोड़ रुपये व इससे अधिक है।

ई-वे बिल पर बोली व्यापारियों की संस्था, इस तरह से लागू करेंगे तो होगी आसानी

व्यापारियों के शीर्ष संगठन कैट का कहना है कि अगर ई-वे बिल प्रणाली का कार्यान्व्यन चरणबद्ध तरीके से किया जाता है तो यह अधिक सुगम होगा। यह प्रणाली एक अप्रैल से लागू हो रही है।

कन्फेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स( कैट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया ने यहां पीटीआई भाषा से कहा, ‘ हम नहीं चाहते कि ई-वे बिल प्रणाली के कार्यान्वयन को टाला जाए लेकिनइसे सभी के लिए एक साथ लागू किया जा सकता है तो प्रणाली के ठप होने याधराशायी होने की अधिक आशंका है।

इसे भी पढ़ें- 'मन की बात' में पीएम मोदी ने की कैब ड्राइवर की तारीफ, कैसे खोला गरीबों के लिए अस्पताल

इसलिए हमने इसे चरणबद्ध ढंग से कार्यान्वित करने का सुझाव दिया है।' उन्होंने कहा कि शुरू में ई-वे बिल प्रणाली उन कंपनियों के लिए होनी चाहिए जिनका कारोबार100 करोड़ रुपये व इससे अधिक है।

इससे बड़ी संख्या में करदाता इसके दायरे में आ जाएंगे। उसके बाद चरणबद्ध तरीके से इसे सबके लिए लागू किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ई-वे बिल प्रणाली के सुचारू कार्यान्वयन को लेकर जीएसटी परिषद के आश्वासन के बावजूद व्यापारियों की कुछ आशंकाए हैं।

Next Story
Top