Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चीन दौरे पर किम जोंग-उन, किम के पिता ''किम जोंग-इल'' भी गुपचुप करते थे ''चीन की यात्रा''

चीन की मीडिया में आज इस बात की अटकलें जोरों पर हैं कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन राजधानी बीजिंग में मौजूद हैं। किम के दिवंगत पिता किम जोंग-इल गुपचुप तरीके से चीन की यात्रा करते थे। हाल ही में उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को लेकर कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ गया है।

चीन दौरे पर किम जोंग-उन, किम के पिता किम जोंग-इल भी गुपचुप करते थे चीन की यात्रा
X

चीन की मीडिया में आज इस बात की अटकलें जोरों पर हैं कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन राजधानी बीजिंग में मौजूद हैं। चीन और उत्तर कोरिया की सीमा पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती के बाद यह अटकलें लगाई जा रही है।

बहरहाल, किम की यात्रा के बारे में किसी ने आधिकारिक पुष्टि नहीं की है। अगर इस बात की पुष्टि हो जाती है तो अपने पिता की मृत्यु के बाद वर्ष 2011 में सत्ता में आने के बाद से यह किम की पहली विदेश यात्रा होगी। चीन के विदेश मामलों के मंत्रालय ने कहा कि उसे इस मामले के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

इसे भी पढ़ें: 1 अप्रैल से बिगड़ जाएगा आपके घर का बजट, ये चीजें होंगी महंगी और सस्ती

हांगकांग के अखबार साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की आज एक खबर के मुताबिक, चीन- उत्तर कोरिया सीमा और बीजिंग में विदेशी मेहमानों के बीच लोकप्रिय होटल पर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों के मौजूद रहने के बाद किम की यात्रा के बारे में मीडिया में खबरें आ रही हैं।

किम की चीन यात्रा

अखबार ने कहा कि ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि कोई हाई प्रोफाइल नेता चीन की यात्रा पर है। उसने कहा कि हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि यह नेता किम हैं लेकिन सुरक्षा इंतजामों को देखकर ऐसा लग रहा है कि जरूर कोई बड़ा नेता है।

बीजिंग के जिस गेस्टहाउस में आमतौर पर विदेशी नेता ठहरते हैं वहां पुलिस की गतिविधि बढ़ गई है। इलाके में बड़ी संख्या में अधिकारी और करीब 50 वाहन देखे गए। आसपास की सड़कों की घेराबंदी कर दी गई है। इतिहास पर गौर करें तो उत्तर कोरियाई नेता की चीन और अपने पड़ोसी देशों की यात्रा हमेशा गोपनीय रही है।

चीन कोरिया संबंध

किम के दिवंगत पिता किम जोंग-इल गुपचुप तरीके से चीन की यात्रा करते थे। हाल ही में उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को लेकर कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ गया है। चीन लंबे समय से उत्तर कोरिया का सहयोगी रहा है।

लेकिन चीन द्वारा संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को लागू करने के बाद से दोनों देशों के रिश्तों में तनाव पैदा हो गया है। अमेरिका के दबाव के बाद चीन ने उत्तर कोरिया को तेल और कोयला जैसी जरूरी चीजों की आपूर्ति रोक दी थी।

इनपुट भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story