Top

किम ट्रंप की दूसरी मुलाकात पर टिकी दुनिया की निगाहें

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Feb 9 2019 12:28AM IST
किम ट्रंप की दूसरी मुलाकात पर टिकी दुनिया की निगाहें

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक बार फिर से मुलाकात करने वाले हैं। इस बार दोनों नेताओं के बीच 27 व 28 फरवरी को वियतनाम में शिखर वार्ता होगी। इससे पहले शिखर वार्ता की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अमेरिका के विशेष दूत स्टीफन बिगन उत्तर कोरिया पहुंच चुके हैं।

उन्होंने उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में अपने समकक्ष किम ह्योक चोल के साथ बुधवार को वार्ता की। इस मुलाकात की घोषणा होने के बाद अमेरिकी दूत स्टीफन बिगन ने बुधवार सुबह नौ बजे सियोल के दक्षिण भाग में मौजूद ओसान के अमेरिकी हवाई अड्डे से प्योंगयांग के लिए उड़ान भरी थी। क

रीब एक घंटे बाद सुबह दस बजे उत्तर कोरिया के सुनान अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उनके विमान ने लैंडिंग की। उत्तर कोरिया रवाना होने से पहले बिगन ने सियोल में कहा था कि इस वार्ता के जरिए अमेरिका कुछ ठोस नतीजे हासिल करना चाहता है। इसमें कोरिया प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण से संबंधित मुद्दे पर भी बातचीत होगी।

अंतरराष्ट्रीय मीडिया के अनुसार उत्तर कोरिया ने अमेरिकी प्रतिबंधों का उल्लंघन करते हुए अपना परमाणु हथियार कार्यक्रम जारी रखा हुआ है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग के बीच पहली मुलाकात जून-2018 में सिंगापुर में हुई थी। इस मुलाकात में दोनों नेता कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह से परमाणु मुक्त बनाने पर सहमत हो गए थे।

साथ ही दोनों नेता अपने देशों के बीच नए संबंधों के निर्माण के लिए भी राजी हुए थे। हालांकि, दोनों नेताओं के बीच हुआ ये समझौता मौखिक था और इसके बाद से ही इस समझौते को मूर्त रूप देने के लिए आगे की बात रुकी हुई थी। माना जा रहा है कि ट्रंप-किम की दूसरी बैठक में इस समझौते को आधिकारिक रूप दिया जाएगा।

स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पिछले सप्ताह दिए गए एक वक्तव्य में स्टीफन बिगन ने कहा था कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप परमाणु मुक्त कार्यक्रम पर महत्वपूर्ण और वास्तविक प्रगति चाहते हैं। वहीं अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने हाल में चेतावनी जारी की है कि उत्तर कोरिया द्वारा अपने परमाणु हथियारों और उत्पादों को पूरी तरह से बंद करने की संभावना बहुत कम है।

लिहाजा ट्रंप और किम की मुलाकात से पहले अमेरिकी दूत स्टीफन बिगन पिछली बैठक में बनी सहमतियों को मूर्त रूप देने और उन पर ठोस योजना बनाने में जुटे हुए हैं। इसके लिए वह वार्ता से ऐसा रास्ता निकालने का प्रयास कर रहे हैं, जो दोनों देशों को स्वीकार्य हो।


ADS

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo