Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

केरल पुलिस ने रेप पीड़िता से पूछा किसने दिया ज्यादा मजा

पुलिस के एक अधिकारी ने महिला से पूछा कि आरोपियों में से सबसे ज्यादा मजा किसके साथ आया।

केरल पुलिस ने रेप पीड़िता से पूछा किसने दिया ज्यादा मजा
तिरुवनंतपुरम. केरल में एक गैंगरेप पीड़िता से पुलिस ने आपत्तिजनक सवाल पूछे हैं। पीड़िता ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि उसके पति के दोस्तों ने उसके साथ गैंगरेप किया था। गैंगरेप की शिकायत दर्ज करवाने पहुंची पीड़िता को पुलिस के बेहूदा और शर्मनाक सवालों की वजह से अपनी शिकायत वापस लेनी पड़ी।
साउथ की डबिंग आर्टिस्ट भाग्यलक्ष्मी ने इस पूरे मामले पर फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा था, जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ा। भाग्यलक्ष्मी ने लिखा था कि, 'ये किसी फिल्म की स्टोरी नहीं है। सारी तहकीकात करने के बाद मैं घटना के बारे में बता रही हूं। एक दिन एक महिला ने मुझे फोन किया। वो बेतहाशा रो रही थी। जब मैंने उससे पूछा कि वो कौन है, तो उसने बस इतना कहा कि मैं आपसे मिलना चाहती हूं।'
भाग्यलक्ष्मी ने आगे लिखा, कुछ देर बाद एक महिला उनसे मिलने पहुंची महिला ने भाग्यलक्ष्मी को अपनी आपबीती बताते हुए कहा कि उसके पति के दोस्तों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया है। पीड़िता जब गैंगरेप की शिकायत दर्ज करवाने त्रिशूर के एक पुलिस स्टेशन पहुंची तो आरोपियों पर कार्रवाई करने के बजाय पीड़िता से आपत्तिजनक सवाल किए गए और उस पर केस वापस लेने का दबाव बनाया गया।
पीड़िता के मुताबिक, पुलिस के एक अधिकारी ने उससे पूछा कि आरोपियों में से सबसे ज्यादा मजा किसके साथ आया। पीड़ित ने कहा कि पुलिस उसे सुबह से शाम तक पुलिस स्टेशन में बिठाकर रखती थी और शर्मसार करने वाले सवाल पूछती थी। पीड़िता ने कहा, पुलिस अधिकारियों के यह बेहूदा सवाल रेप से कहीं ज्यादा जख्म देने जैसे थे।
गौरतलब है कि भाग्यलक्ष्मी के फेसबुक इस पोस्ट के वायरल होने के बाद मुख्यमंत्री पी. विजयन ने मामले पर संज्ञान लिया और पीड़िता को दोषियों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया। हालांकि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीड़िता ने दोषी पुलिस अधिकारियों का नाम बताने से साफ इंकार कर दिया। पीड़िता का मानना है कि ऐसा करने से उसकी जान को खतरा हो सकता है।
32 साल की पीड़िता ने इस बारे में कहा कि वह कोई मुकदमा लड़ना नहीं चाहती है। पुलिस उसे और उसके परिवार को जान-बूझकर परेशान कर रही है। यह रेप से कहीं ज्यादा दर्द देने वाला है। पीड़िता की माने तो पुलिस उसके परिवार को धमकी देने के साथ-साथ बेइज्जत कर रही है। फिलहाल सीएम से मिले आश्वासन के बाद इस मामले में जल्द दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होना तय माना जा रहा है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top