Breaking News
अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने तालिबान के साथ शर्तें रखते हुए युद्धविराम की घोषणा, तालिबान का अभी तक कोई रिस्पांस नहींमौसम विभाग अलर्ट: अगले तीन घंटों में यूपी के 11 जिलों बारिश की संभावनापाक आर्मी को गले लगाने पर सिद्धू की मुश्किल बढ़ीदिल्ली समेत एनसीआर में मौसम हुआ सुहाना, कई इलाकों में झमाझम बारिशअंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की कमर टूटी, लंदन पुलिस को मिली बड़ी कामयाबीरेड अलर्ट : केरल में बाढ़ से अबतक 357 लोगों की मौत, NDRF का अब तक का सबसे बड़ा अभियान जारीअटल बिहारी वाजपेयीः अस्थियों को समेटनें पहुंची बेटी, हरिद्वार विसर्जित होंगी अटल जी की अस्थियांआज हरिद्वार में होगा अटल बिहारी वाजपेयी का अस्थि विसर्जन, पीएम और शाह भी रहेंगे मौजूद
Top

केरल लव जिहाद मामला: पति के साथ रहने पहुंची हदिया, सुप्रीम कोर्ट को कहा थैंक्यू

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Mar 12 2018 9:38PM IST
केरल लव जिहाद मामला: पति के साथ रहने पहुंची हदिया, सुप्रीम कोर्ट को कहा थैंक्यू

लव जिहाद की कथित शिकार केरल निवासी युवती हदिया ने आज कहा कि वह अपने पति के साथ फिर से रहने की अनुमति देने के लिए उच्चतम न्यायालय के प्रति आभारी है। उच्चतम न्यायालय ने आठ मार्च को हदिया को बड़ी राहत देते हुये शफीन जहान से उसकी शादी अमान्य घोषित करने का केरल उच्च न्यायालय का फैसला निरस्त कर दिया था। 

इस फैसले के कुछ दिन बाद हादिया ने पत्रकारों से कहा कि यह एक ऐसा आदेश था जिसने उसे एक विश्वास के साथ खड़े होने की आजादी दी और उसका विश्वास ठीक था। हदिया ने कहा कि जिस तरह की पीड़ा से वह गुजरी है, देश में किसी अन्य व्यक्ति को इस तरह की पीड़ा का अनुभव नहीं होना चाहिए।         
 
अपने पति शफीन जहान के साथ मौजूद हदिया ने कहा कि उन्हें शीर्ष अदालत से आजादी और न्याय मिला और कानूनी लड़ाई के दौरान उसके साथ खड़े सभी लोगों को वह धन्यवाद देती है। उन्होंने कहा,‘‘ मुझे लेकर और अधिक विवाद अब नहीं होना चाहिए।''
 
शीर्ष अदालत ने पिछले साल अगस्त में राष्ट्रीय जांच एजेन्सी को हदिया के धर्म परिवर्तन के मामले की जांच का निर्देश दिया था क्योंकि एजेन्सी ने दावा किया था कि केरल में इस तरह का एक‘ तरीका' सामने आ रहा है। 
 
 
यह मामला उस समय सुर्खियों में आया जब हदिया के पति शफीन जहान ने उसकी शादी अमान्य करार देने और उसकी पत्नी को माता पिता के घर भेजने के उच्च न्यायालय के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी। 
 
शीर्ष अदालत ने पिछले साल27 नवंबर को हादिया को उसके माता पिता की निगरानी से मुक्त करते हुये उसे कॉलेज में अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिये भेज दिया था। हालांकि, हादिया ने कहा था कि वह अपने पति के साथ ही रहना चाहती है। 
 
उच्च न्यायालय ने पिछले साल मई में हदिया और शफीन के विवाह को लव जिहाद का एक नमूना बताते हुये इसे अमान्य घोषित कर दिया था।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
kerala love jihad case hadiya thanks to sc

-Tags:#Love Jihad#Hadia#supreme court#Kerala love jihad#Shafiqan Jahan#Hadia
mansoon
mansoon

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo