Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

केरल लव जिहाद केस: हादिया के इस बयान पर हो रही राजनीति, ये है पूरा मामला

सुप्रीम कोर्ट में धर्म परिवर्तन कर हिंदू से मुसलमान बनीं हादिया का मामला कोर्ट में है।

केरल लव जिहाद केस: हादिया के इस बयान पर हो रही राजनीति, ये है पूरा मामला

केरल लव-जेहाद मामले को लेकर केरल से लेकर दिल्ली तक राजनीति हो रही है। सुप्रीम कोर्ट में धर्म परिवर्तन कर हिंदू से मुसलमान बनीं हादिया के मामले की सुनवाई होनी है।

इस मामले में नया मोड़ तब आया जब कोर्ट में जाने से पहले हादिया ने कहा कि मैं एक मुसलमान हूं और अपने पति के साथ रहना चाहती हूं, मुझे धर्मपरिवर्तन के लिए किसी ने भी बाध्य नहीं किया है।

यह भी पढ़ें: सीबीआई स्पेशल जज लोया की मौत के मामले में ईसीजी रिपोर्ट पर खड़े हुए सवाल

केरल सरकार का बयान

केरल सरकार ने बीती 7 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट बयान दिया था। सरकार ने कहा कि हिंदू महिला के मुस्लिम धर्म स्वीकार करने और मुस्लिम युवक से विवाह के मामले में एनआईए जांच की जरूरत नहीं है। इस मामले में पुलिस ने पूरी जांच की है और इसमें ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है, जिसके बाद ये मामला एनआईए को भेजा जाए।

एनआईए ने कोर्ट ने दिया बयान

एनआईए की ओर से दाखिल की गई चार्जशीट में कहा कि राज्य में बहुत ही मैकेनाइज्ड मशीनरी एक्टिव है। वह राज्य में कट्टरता भरने के काम में लगी हैं। अब तक हादिया जैसे 89 मामले सामने आ चुके हैं।

हादिया के पिता का बयान

हादिया के पिता एम अशोकन ने कहा कि उनकी बेटी का पति शफीन एक कट्टर शख्स है। पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया जैसे कई संस्थान समाज को कट्टर बनाने में लगे हैं।

यह भी पढ़ें: भाजपा ने जारी की उम्मीदवारों की छठी सूची, आनंदी पटेल को नहीं मिला टिकट

क्या है पूरा मामला

केरल की रहने वाली अखिला अशोकन उर्फ हादिया ने शफीन नाम के मुस्लिम लड़के से बीते दिसंबर 2016 में शादी की थी। जिसके बाद लड़की के पिता ने आरोप था कि यह लव जिहाद का मामला है। उनकी बेटी का जबर्दस्ती धर्म बदलवाकर शादी की गई है।

जिसके बाद पिता ने कोर्ट ने याचिका दायर की और हाईकोर्ट ने हादिया की शादी को अमान्य घोषित कर दिया। हादिया को उसके माता-पिता के पास रखने का आदेश दिया था।

Share it
Top