Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CBSE: छात्रा को दिया 10वीं गणित का गलत पेपर, दोबारा परीक्षा कराने के आदेश

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के 10वीं के गणित का पेपर लीक मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि परीक्षा से जुड़ा एक और हैरान करने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, केरल हाईकोर्ट ने CBSE को एक छात्रा का दोबारा एग्जाम करवाने का आदेश दिया है।

CBSE: छात्रा को दिया 10वीं गणित का गलत पेपर, दोबारा परीक्षा कराने के आदेश

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के 10वीं के गणित का पेपर लीक मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि परीक्षा से जुड़ा एक और हैरान करने वाला मामला सामने आया है। दरअसल, केरल हाईकोर्ट ने CBSE को एक छात्रा का दोबारा एग्जाम करवाने का आदेश दिया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, हाईकोर्ट ने CBSE को आदेश दिया है कि छात्रा कि दोबारा परीक्षा का आयोजन दूसरे छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं की जांच होने से पहले तक किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें- CBSE पेपर लीक मामले में नया खुलासा, मास्टरमाइंड ने कहा- छात्रों की मदद के लिए किया पेपर लीक

क्या है मामला

केरल की रहने वाली एक छात्रा को एग्जाम में गणित की परीक्षा के दिन स्कूल द्वारा पिछले साल का पेपर दे दिया गया था। इसके बाद छात्रा ने हाईकोर्ट में मामले की शिकायत दर्ज की थी।

जानकारी के मुताबिक, यह याचिका कोटयम की अनीया सलीम ने दायर की थी। इस याचिका के मुताबिक, अमीया ने 28 मार्च को आयोजित हुई गणित की परीक्षा में सभी सवालों के जवाब दिए थे।

छात्रा के मुताबिक, परीक्षा के बाद जब वो अन्य छात्रों के साथ पेपर को लेकर बात कर रही थी, उसी दौरान उसे पता चला कि उसका पेपर अन्य बच्चों के पेपर से अलग है। इसके बाद छात्रा और उसके घरवालों ने CBSE चेयरमैन और रीजनल ऑफिसर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई।

इस याचिका में आरोप लगाया गया है कि बोर्ड की ओर से कोई शिकायत दर्ज नहीं की गई और ना ही कोई कार्रवाई की गई।

बता दें कि जब अमीया सलीम के टीचरों को मालूम चला कि छात्रा को 2016 का प्रश्न पत्र दे दिया गया है तो उन्होंने तुरंत कोट्टायम जिले के वाडावथूर में परीक्षा केंद्र को सूचित किया था।

गौरतलब है कि 12 मार्च से CBSE की बोर्ड परीक्षा शुरू हुई थी और 28 मार्च को गणित का पेपर था। वहीं गणित के पेपर के लीक होने की सूचना पर बोर्ड ने पेपर रद्द भी कर दिया था, लेकिन बाद में बोर्ड ने दोबारा परीक्षा नहीं करवाने का फैसला किया।

Next Story
Top