Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

'मैं EVM टैंपर करने के 10 तरीके जनता हूं'

केजरीवाल ने कहा, ''निर्वाचन आयोग भाजपा को जीत दिलाने के सभी प्रयास कर रहा है।''

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि ईवीएम से छेड़छाड़ की जा सकती है।

एनडीटीवी के साथ साक्षात्कार में केजरीवाल ने कहा, 'ईवीएम से छेड़छाड़ करने के कई तरीके हैं। मैं आईआईटी से इंजीनियर हूं, मैं आपको 10 तरीके बता सकता हूं कि कैसे ईवीएम से छेड़छाड़ कर सकते हैं।

केजरीवाल ने कहा, निर्वाचन आयोग इसे जानबूझकर कर रहा है, वे आरोपों से क्यों पल्ला झाड़ रहे हैं। निर्वाचन आयोग भाजपा को जीत दिलाने के सभी प्रयास कर रहा है।'

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'इस बात के ठोस सबूत हैं कि कैसे ईवीएम सिर्फ भाजपा के लिए वोट करते हैं, इस वजह से हम मामले को उठा रहे हैं।'

ईवीएम से कैसे छेड़छाड़ की जा सकती है, इस बारे में केजरीवाल ने कहा, 'दो अलग-अलग कंपनियों द्वारा बनाई गई चिप्स को एक बग या ट्रोजन हार्स (एक वायरस/यह एक कंप्यूटर को हैक करने वाले मैलेशियस कंप्यूटर प्रोगाम के इस्तेमाल से) के जरिए चिप्स में डाला जा सकता है।'

केजरीवाल ने कहा, "अब मैं देख रहा हूं कि किस प्रकार के ईवीएम वे इस्तेमाल कर रहे हैं.. वे कबाड़खाने से ईवीएम को वापस ला रहे हैं। इससे पहले ईसी ने कहा कि वे 2006 से पहले के ईवीएम स्वीकार नहीं करेंगे और अब वे इन्हीं मशीनों को चुनावों में लाने जा रहे हैं।"

केजरीवाल ने कहा कि यदि ईवीएम को दुरुस्त नहीं किया गया, तो 'हमारा लोकतंत्र नहीं बच पाएगा।' यह पूछे जाने पर कि क्या वह ईसी के ईवीएम हैक करने की खुली चुनौती को स्वीकारेंगे? केजरीवाल ने कहा, "आप इंतजार कीजिए और देखिए। अगले 10 दिनों में क्या होता है।"

विपक्षी पार्टियां पांच राज्यों के विधानसभा के 11 मार्च के नतीजे के बाद से ईवीएम की प्रमाणिकता को लेकर सवाल उठा रही हैं।

Next Story
Top