Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मां का शव फ्रिज में रख 3 साल तक पेंशन लेता रहा कलयुगी बेटा, पिता के लिए भी बना रहा था योजना !

कलयुगी बेटे ने अपनी मां के शव को तीन साल तक फ्रीजर में रखा। प्रत्येक साल वह अपनी मां के अंगूठे का निशान लगाकर बैंक में प्रमाण पेश करता रहा और प्रत्येक साल अकाउंट में आई पेंशन की रकम को डेबिट कार्ड के जरिए निकालता रहा।

मां का शव फ्रिज में रख 3 साल तक पेंशन लेता रहा कलयुगी बेटा, पिता के लिए भी बना रहा था योजना !

कोलकाता में कलयुगी बेटे की काली करतूत की हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है। इस कलयुगी बेटे ने अपनी मां के शव को तीन साल तक फ्रीजर में रखा। इसके बाद प्रत्येक साल वह अपनी मां के अंगूठे का निशान लगाकर बैंक में प्रमाण पेश करता रहा और प्रत्येक साल अकाउंट में आई पेंशन की रकम को डेबिट कार्ड के जरिए निकालता रहा। इस तरह वह तीन साल से हर महीने 50,000 रुपए पेंशन ले रहा था।

ये भी पढ़ें- जानें कोर्ट रूम में सलमान की जमानत याचिका पर वकीलों ने क्या रखी दलीलें, यहां पढ़ें पूरी बहस

सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि इस कलयुगी बेटे के साथ उसका पिता भी रहता था। उसने इसको लेकर किसी भी प्रकार की आपत्ति नहीं की।
यह पूरा मामला कोलकात के बेहला थाना क्षेत् के जेम्स लांग सरणी का बताया जा रहा है। बुधवार की देर रात डह डीसी निलांजन विश्वास को इसकी जानकारी मिली तो पुलिस की टीम ने छापेमारी वृद्धा का शव बरामद किया।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 84 वर्षीय बीना मजूमदार फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया में बड़े पद से रिटायर हुई थीं। करीब तीन वर्ष पहले उम्रजनित बीमारियों की वजह से बीना की मौत अस्पताल में हो गई थी।
उनके बेटे शुभब्रत मजूमदार (46) ने शव का अंतिम संस्कार करने के बजाए उसे घर के अंदर ही फ्रीजर में रख दिया था। बेटे ने लेदर टेक्नोलॉजी की पढ़ाई की है और मां के शव को संरक्षित करने के लिए रसायनों का इस्तेमाल करता था। उसके पिता गोपाल चंद्र मजूमदार (89) उसी के साथ रहते हैं। वह भी एफसीआई में बड़े पद से सेवानिवृत्त हैं। मां बीना मजूमदार को 50 हजार रुपए प्रति महीने पेंशन मिलती थी।
माना जा रहा है कि पेंशन लेते रहने के लिए शुभब्रत ने ऐसा किया था। इंजीनियरिंग की पढाई करने के बाद भी वह कोई नौकरी नहीं करता था और मां-बाप के पेंशन से ही गुजारा कर रहा था।
पुलिस पिता से भी पूछताछ कर रही है कि आखिरकार उन्होंने बेटे की इस साजिश के बारे में किसी को जानकारी क्यों नहीं दी। पुलिस के सूत्रों की मानें को शुभब्रत की योजना की भनक पिता को मिल गई थी, इसलिए संभव है कि उन्होंने ही पुलिस को सूचना दी हो।
Next Story
Top