Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कश्मीर हिंसा: रोज हो रहा है 135 करोड़ का नुकसान

हिंसा के चलते राज्य सरकार को करीबन 300 करोड़ रुपये का राजस्व घाटा हो चुका है।

कश्मीर हिंसा: रोज हो रहा है 135 करोड़ का नुकसान
X
नई दिल्ली. कश्मीर में पिछले 49 दिनों से चल रहे संघर्ष के चलते राज्य की अर्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है क्योंकि कश्मीर घाटी की अर्थव्यवस्था को इस संघर्ष के चलते अब तक 6400 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। कर्फ्यू और अलगागववादियों के विरोध-प्रदर्शन के चलते सरकार को भारी आर्थिक नुकसान हो चुका है। इस घटना के बाद से ही कश्मीर में पर्यटन और अन्य कारोबारी गतिविधियां ठप्प पड़ी हैं। इस सबका व्यापक असर ये है कि कश्मीर घाटी को इसकी वजह से रोजाना लगभग 135 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है और ये सब मिलाकर 49 दिनों के बाद राज्य को करीब 6400 करोड़ रुपये का घाटा हो चुका है।
प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक संघर्ष
कश्मीर ट्रेडर्स एंड मैन्यूफैकचर्स फेडरेशन (केटीएमएफ) के प्रेसिडेंट मोहम्मद यासीन खान ने ये जानकारी दी है। हालांकि उन्होंनें ये बी बताया कि इस नुकसान का आकलन 6 महीने पहले की राज्य की कमाई के आधार पर लगाया गया है। सशस्त्र सेना और कश्मीर के प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक संघर्ष में अब तक 66 लोगों की जान जा चुकी है और हजारों लोग घायल हो चुके हैं। हिंसक विरोध प्रदर्शनों में मारे जा चुके लोगों के लिए जो हड़ताल बुलाई है उसका व्यापक असर राज्य पर देखा जा रहा है और सभी दुकानें, पेट्रोल पंप, कारोबारी घराने, निजी दफ्तर आदि सभी बंद हैं। हालांकि कुछ समय के लिए अलगाववादी हड़ताल में राहत देते हैं लेकिन ये मुख्य तौर पर रात में होता है तो इसका व्यापार को कोई फायदा नहीं मिल पाता है। यहां तक आरोप लग रहे हैं कि मास्कधारी युवा या फिर खुद सेना ही दुकानदारों को दुकानें बंद रखने के लिए धमकाती हैं।
300 करोड़ का राजस्व घाटा
राज्य के दुकानदार चाहते हैं कि कश्मीर की इस मौजूदा समस्या का हर तुरंत खोजा जाए जिससे राज्य की सरकार और राज्य के लोगों सबको भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है। पिछले 1.5 महीने से राज्य सरकार को करीबन 300 करोड़ रुपये का राजस्व घाटा हो चुका है। राज्य में टैक्स और लेवी का कलेक्शन बहुत ज्यादा नीचे आ चुका है और सबसे ज्यादा बुरा असर सेल्स टैक्स पर पड़ा है। वहीं राज्य की कमाई के सबसे बड़े साधन पर्यटन पर बुरी तरह से असर हुआ है और लोग कश्मीर जाने का ख्याल छोड़ रहे हैं। साथ ही ट्रांसपोर्ट का काम ठप पड़े रहने से माल का आवागमन प्रभावित हुआ है।
पर्यटन में गिरावट
राज्य पर्यटन विभाग के एक अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि कश्मीर में टूरिज्म में भारी गिरावट आई है लेकिन इस बारे में वो बेबस हैं और कुछ नहीं कर सकते। उन्होंनें माना कि राज्य में लोगों को घूमने के लिए मनाना लगभग नामुमकिन है जबकि राज्य में ऐसी बदतर स्थिति है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top