Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कसौली गोलीकांड: पुलिस झूठी कहानी बनाकर बनी बहादूर, आरोपी ने आत्मसमर्पण कर किए बड़े खुलासे

कसौली में गोलीकांड को लेकर एक बार फिर हिमाचल पुलिस विवादो में घिरती नजर आ रही है, इस बार यह विवाद गोलीकांड के आरोपी को गिरफ्तार करने पर है। वहीं हिमाचल पुलिस ने कहा है कि उन्होंने आरोपी को ट्रैप बनाकर उत्तर प्रदेश के मथुरा से पकड़ा है, मगर इसके पीछे की कहानी कुछ और ही है।

कसौली गोलीकांड: पुलिस झूठी कहानी बनाकर बनी बहादूर, आरोपी ने आत्मसमर्पण कर किए बड़े खुलासे
X

कसौली में गोलीकांड को लेकर एक बार फिर हिमाचल पुलिस विवादो में घिरती नजर आ रही है, इस बार यह विवाद गोलीकांड के आरोपी को गिरफ्तार करने पर है। वहीं हिमाचल पुलिस ने कहा है कि उन्होंने आरोपी को ट्रैप बनाकर उत्तर प्रदेश के मथुरा से पकड़ा है, मगर इसके पीछे की कहानी कुछ और ही है।

हिमाचल पुलिस गोलीकांड के आरोपी को 24 घंटे तक जंगल में खोज रही थी, लेकिन अचानक ही पुलिस को कैसे वृंदावन में आरोपी मिल गया।

वहीं आरोपी के परिजनों ने इस गिरफ्तारी को लेकर बड़ा खुलासा किया है, जिसमें उन्होंने पुलिस की कहानी को झुठा साबित किया है। परिजनों ने कहा है कि पुलिस को आरोपी की जानकारी दी और लोकेशन के आधार पर पुलिस ने आरोपी को पकड़ा।

ये भी पढ़े: कर्नाटक चुनाव 2018: आज लगातार 8 रैलियां करेंगे राहुल गांधी, जनता से करेंगे 'मन की बात'

उन्होंने आगे कहा है कि जब आरोपी आत्मसमर्पण के लिए पुलिस के पास जा रहा था, तब पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर अपनी कामयाबी घोषित कर दी।

नारायणी गेस्ट हाउस के आरोपी मालिक विजय ठाकुर ने वीरवार को अपने एक रिश्तेदार को 11:34 बजे एक नंबर से फोन किया था और तीन मिनट तक बात भी की थी।

इस बातचीत के दौरान आरोपी ने कहा था कि मैं मथुरा में हूं। इस दौरान आरोपी ने कहा था कि वह आत्मसमर्पण करना चाहता है, मगर उत्तर प्रदेश की पुलिस उसका एनकाउंटर कर सकती है।

आगे आरोपी ने बताया था कि वह कोर्ट या एसपी के सामने समर्पण करना चाहता है, इसके लिए वह कसौली और परवाणू आना चाहता है। मगर परिजन ने उस सलाह दी कि वह उसी क्षेत्र में किसी भी एसपी के कार्यालय में समर्पण कर दे।

इसके बाद शाम करीब 4 बजे आरोपी ने अपने परिजन को फोन करके मैं सरेंडर करने जा रहा हूं की जानकारी दी।

जब आरोपी विजय के परिजन ने पुलिस को जानकारी दी तब पुलिस की टीम तुरंत मथुरा रवाना हो गई और लोकेशन की मदद से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। जब पुलिस को पता चला की आरोपी 5 बजे समर्पण करने जा रहा है तो उन्होंने दिल्ली की टीम से मदद लेकर उसे गिरफ्तार करने को कहा गया था।

इसके बाद हिमाचल की पुलिस ने पहुंचते ही आरोपी को अपनी गिरफ्त में लिया।

ये भी पढ़े: इन राज्यों में अगले 12 घंटे में फिर आंधी-तूफान का बड़ा खतरा, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

इस गिरफ्तारी को लेकर सोलन के एसपी डॉ. शिव कुमार ने कहा है कि उन्होंने पुलिस की टीम को दो दिन पहले दिल्ली भेज दिया था। इसके बाद पुलिस ने कड़ी मेहनत के बाद ठिकाने का पता चला और उसे गिरफ्तार किया।

हिमाचल पुलिस की कार्रवाई पर उठे सवाल

पुलिस के काम पर सवाल इसलिए उठा क्योंकि पुलिस को दो दिन पहले तक आरोपी की लोकेशन का पता था, तब भी कसौली में सुबह 11:24 किस की खोज कर रही थी। बुधवार को डॉग स्क्वायड की मदद से किस को खोज रही थी।

बता दें कि कसौली गोलीकांड के आरोपी विजय ठाकुर को अपनी करनी पर काफी पछतावा हुआ था, जिसकी वजह से उसने आत्मसमर्पण की बात अपने परिजन को बताई थी। आत्मसर्पण के पीछे एेक यह भी कारण है कि आरोपी को बेघर हुए बच्चों के दुख के कारण यह फैसला लिया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story