Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कर्नाटक: पीएम की रैली से पहले कन्नड़ समर्थकों का बंद, इस मांग को लेकर अड़े

यूपी और मध्य प्रदेश में अपना भगवा झंडा लहराने के बाद भारतीय जनता पार्टी अब दक्षिण में सेंध लगाने की कोशिश कर रहे हैं। इस कड़ी में सबसे पहले नंबर कर्नाटक का है।

कर्नाटक: पीएम की रैली से पहले कन्नड़ समर्थकों का बंद, इस मांग को लेकर अड़े

कर्नाटक में बीजेपी की नवनिर्माण यात्रा के बाद पीएम की रैली से पहले कन्नड़ समर्थकों ने रविवार को बंद का ऐलान किया है साथ ही अन्य संगठनों को अपने साथ शामिल होने की अपील की है।

वहीं कोर्ट ने कन्नड़ों के इस बंद के ऐलान को अवैध करार दिया है। कांग्रेस भी प्रदर्शन का समर्थन नहीं कर रही है, माना जा रहा है कि प्रदर्शनकारियों को संरक्षण मिल रहा है।

इसे भी पढ़ें : स्वतंत्रता दिवस से हो सकती है 'आयुष्मान भारत' की शुरुआत, सरकार के सामने होगी ये परेशानियां

इस साल अप्रैल- मई में कर्नाटक विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में यूपी और असम में अपना भगवा झंडा लहराने के बाद भारतीय जनता पार्टी अब दक्षिण भारत में सेंध लगाने की कोशिश में जुटी हुई है। इस कड़ी में सबसे पहले नंबर पर कर्नाटक है। बीजेपी भी अपनी 'कर्नाटक नवनिर्माण यात्रा' की यात्रा को अंजाम तक पहुंचाने के लिए तैयार हो चुकी है।

पीएम मोदी की रैली

बीजेपी की ओर से करीब 90 दिनों तक चली नवनिर्माण यात्रा पूरी होने के बाद आज पीएम मोदी रैली को संबोधित करेंगे। पीएम मोदी ने बीते 28 जनवरी को यात्रा पूरी होने के पर आना था, लेकिन व्यस्त होने के चलते वो नहीं आ सके थे।

जल विवाद

कन्नड़ भाषी लोग जल विवाद के चलते मोदी की रैली का विरोध कर रहे हैं। कर्नाटक में जल विवाद एक बड़ा मुद्दा है। जल विवाद को लेकर कन्नड़ों ने कई आंदोलन भी चलाए है। ये आंदोलन महादायी नदी को लेकर कर रहे हैं। महादायी नदी उत्तर-पश्चिमी कर्नाटक के बेलागावी जिले के पश्चिमी घाट के भीमगढ़ से शुरू होते हुए गोवा तक जाती है।
कर्नाटक 2001 से ही गोवा से 7.6 अरब क्यूबिक फीट नदी का पानी छोड़ने की मांग कर रहा है, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया है। जिसे लेकर किसान और उनसे जुड़े संगठन नाराज हैं। जुलाई 2016 में महादायी जल विवाद ट्रिब्यूनल (एमडब्ल्यूडीटी) ने कर्नाटक के दावे को ठुकरा दिया था।
Loading...
Share it
Top