Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्नाटक: अगर ईवीएम का हैक करने का दावा हुआ फेल, तो जाना होगा 6 महिने के लिए जेल

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ईवीएम के साथ वीवीपैट का प्रयोग करना अनिवार्य है।

कर्नाटक: अगर ईवीएम का हैक करने का दावा हुआ फेल, तो जाना होगा 6 महिने के लिए जेल

चुनावों के दौरान ईवीएम मशीनों को लेकर फैल रही अफवाहों पर अब चुनाव आयोग सख्त हो गया है। विधानसभा के चुनाव से पहले कर्नाटक चुनाव आयोग ने साफ कहा है कि ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ करना संभव नहीं है, अगर इसके बाद भी कोई इस पर सवाल उठाता है तो उसे साबित करना होगा।

अगर कोई इसे साबित नहीं कर पाता है तो उसके खिलाफ मानहानि का केस दर्ज किया जाएगा और साथ ही 6 महिने की कैद की सजा भी दी जाएगी।

ये भी पढ़े: ये है टी-20 ट्राई सीरीज का पूरा शेड्यूल, जानिए पहला मैच कब और किससे खेलेगी टीम इंडिया

राज्य मुख्य चुनाव अधिकारी संजीव ने कहा है कि हर एक को ईवीएम या वीवीपैट की विश्वसनीयता के बारे में पूछने का अधिकार है, अगर कोई साबित करने में नाकाम हो जाता है तो उसे 6 महीने की कैद के लिए तैयार रहना होगा।

उन्होंने आगे कहा है कि ईवीएम या वीवीपैट के साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ करना असंभव है। कुछ मीडिया समूह भी इसको लेकर अफवाह फैला रहे हैं। चुनाव आयोग इसको गंभीर मुद्दे के तौर पर मान रहा है। अगर कोई झूठी बातें फैलाए जाता पाया जाता है तो उसके खिलाफ चुनाव आयोग आपराधिक मानहानि का के दर्ज किया जाएगा।

ये भी पढ़े: दो बार की चैम्पियन वेस्टइंडीज को वर्ल्ड कप खेलने के लिए इन टीमों को हराना होगा

अगर किसी भी तरह की झूठी बातें फैलाई जाएंगी तो चुनाव आयोग आपराधिक मानहानि का मुकदमा भी दर्ज कर सकता है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ईवीएम के साथ वीवीपैट का प्रयोग करना अनिवार्य है। वीवीपैट की मदद से वोटर्स को पर्ची मिल जाती है, जिसमें लिखा होता है कि उसने किस को वोट दिया है। कर्नाटक विधानसभा चुनावों में 73 हजार 850 वीवीपैट की जरूरत है।

Next Story
Top