Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्नाटक में येदियुरप्‍पा के शपथग्रहण को लेकर कांग्रेस पहुंची SC, जानें मीड नाइट ड्रामा की पूरी कहानी

कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर खूब ''नाटक'' चला। बुधवार की शाम राज्‍यपाल वजुभाई वाला ने भाजपा को सरकार बनाने का न्‍योता भेज दिया। अब येदियुरप्‍पा गुरुवार सुबह 9:30 पर मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। उन्‍हें 15 दिन का वक्त बहुमत साबित करने के लिए मिला है।

कर्नाटक में येदियुरप्‍पा के शपथग्रहण को लेकर कांग्रेस पहुंची SC, जानें मीड नाइट ड्रामा की पूरी कहानी
X

कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर खूब 'नाटक' चला। बुधवार की शाम राज्‍यपाल वजुभाई वाला ने भाजपा को सरकार बनाने का न्‍योता भेज दिया। अब येदियुरप्‍पा गुरुवार सुबह 9:30 पर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उन्‍हें 15 दिन का वक्त बहुमत साबित करने के लिए मिला है।

राज्यपाल के फैसले के खिलाफ रात 11 बजे कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई और अर्जी दाखिल की। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने रात को ही इस पर सुनवाई का आग्रह किया। इसके बाद देर रात सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार कांग्रेस-जेडीएस की अर्जी लेकर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया दीपक मिश्रा के घर पहुंचे।
रात 1.45 बजे सुप्रीम कोर्ट लगी और 3 जजों की पीठ ने सुनवाई की। इस पीठ में जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस अर्जन कुमार सीकरी और जस्टिस शरद अरविंद बोबडे शामिल रहे। एडिशनल सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने राज्यपाल का पक्ष रखा। कांग्रेस की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने पैरवी की। मुकुल रोहतगी ने भाजपा का पक्ष रखा।
कांग्रेस ने सिंघवी ने पीठ को बताया, हमारे पास 117 विधायक और भाजपा के पास केवल 104 विधायक हैं। इस पर भाजपा के अधिवक्ता रोहतगी ने कहा, राज्यपाल को पार्टी न बनाएं। राज्यपाल के आदेश पर रोक नहीं लग सकती।
दोनों पक्षा को सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने रात 2. 40 बजे अपनी टिप्पणी में सरकारिया रिपोर्ट का हवाला दिया और कहा- भाजपा सबसे बड़ी पार्टी है। कांग्रेस और जद (एस) गठबंधन बाद में हुआ है।
गौरतलब है कि सरकार बनाने के लिए कर्नाटक राजभवन ने एक पत्र जारी कर कहा है, मैं आपको (येदियुरप्पा को) सरकार बनाने के लिए और कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए आमंत्रित करता हूं।
राज्यपाल ने येदियुरप्पा से मुख्यमंत्री का पदभार संभालने के 15 दिन के अंदर विश्वास मत हासिल करने को भी कहा। भाजपा महासचिव मुरलीधर राव ने संवाददाताओं को बताया कि येदियुरप्पा गुरुवार यहां सुबह नौ बजे शपथ लेंगे।
सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने की संभावना नहीं है। इससे पहले, कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए पुरजोर प्रयास करते हुए येदियुरप्पा और नवगठित जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन के नेता एच डी कुमारस्वामी, दोनों ने ही राज्यपाल वाला से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश किया था।
उधर, भाजपा ने कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले का बचाव किया। पार्टी ने कहा कि राज्यपाल ने बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता देने में संविधान और उच्चतम न्यायालय के आदेशों के अनुसार कदम उठाया है। उसने कांग्रेस पर जनादेश को लूटने का प्रयास करने का आरोप लगाया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top