Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कर्नाटक के नाटक पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पांच मुख्य बातें भाजपा-कांग्रेस को रखनी होगी ध्यान में

सुप्रीम कोर्ट द्वारा भाजपा नेता बी एस येद्दियुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से इनकार करने वाले आदेश की पांच मुख्य बातों को भारतीय जनता पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और बी एस येदियुरप्पा को रखनी होगी ध्यान में।

कर्नाटक के नाटक पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की पांच मुख्य बातें भाजपा-कांग्रेस को रखनी होगी ध्यान में
X

कर्नाटक में चल रहे सियासी नाटक के बाद भाजपा विधायक दल के नेता बी एस येद्दियुरप्पा ने आज मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। सरकार बनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में रातभर चली हाई वोल्टेज कानूनी लड़ाई के बाद बी एस येद्दियुरप्पा दूसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने। सुप्रीम कोर्ट द्वारा भाजपा नेता बी एस येद्दियुरप्पा के शपथ ग्रहण पर रोक लगाने से इनकार करने वाले आदेश की झलकियां इस प्रकार हैं:

  1. येद्दियुरप्पा को मुख्यमंत्री के तौर शपथ लेने के लिए राज्यपाल वजुभाई वाला द्वारा दिए गए पत्र को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई के लिए देर रात न्यायमूर्ति ए.के सीकरी, एस.के बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ को विशेष तौर पर बुलाया गया।
  2. न्यायमूर्ति ए.के सीकरी, एस.के बोबडे और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने रेखांकित किया कि येद्दियुरप्पा द्वारा 15 और 16 मई को सरकार बनाने का दावा पेश करने के लिए राज्यपाल को दिए गए पत्रों का अवलोकन करना जरूरी है।
  3. पीठ ने केंद्र और येद्दियुरप्पा की ओर से पेश हुए अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल से अगली सुनवाई के समय ये पत्र पेश करने को कहा। अगली सुनवाई कल सुबह साढ़े दस बजे होगी।
  4. सर्वोच्च अदालत ने यह स्पष्ट किया कि राज्य में शपथ ग्रहण और सरकार के गठन की प्रक्रिया उसके समक्ष लंबित मामले के अंतिम फैसले के दायरे में आएगी।
  5. पीठ ने कर्नाटक सरकार और येद्दियुरप्पा को नोटिस भी जारी किया। वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने कहा कि वह भाजपा के तीन विधायकों गोविंद एम करजोल, सी एम उदासी और बासवाराज बोम्मई की ओर से पेश हुए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top