Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्कूलों में बदलाव की जरूरत, लड़कियों के लिए अलग शौचालय का अभाव चिंता का विषय: करीना

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा कानूनी ही नहीं बल्कि बच्चों का नैसर्गिक अधिकार भी हैः करीना कपूर

स्कूलों में बदलाव की जरूरत, लड़कियों के लिए अलग शौचालय का अभाव चिंता का विषय: करीना
नई दिल्ली. स्कूलों में आधारभूत संरचना की कमी को रेखांकित करते हुए यूनिसेफ इंडिया से जुड़ी बॉलीवुड अभिनेत्री करीना कपूर ने गुरूवार को कहा कि देश के स्कूलों में लड़कियों के लिए अलग शौचालय का अभाव चिंता का विषय है और इसका जल्द से जल्द समाधान निकालने की जरूरत है।
यूनिसेफ का ‘‘चाइल्ड फ्रेंडली स्कूल एंड सिस्टम’’ प्रारूप पेश करने के लिए यहां आयोजित समारोह में करीना ने कहा, ‘‘ देश के स्कूलों में आधारभूत संरचना की कमी चिंता का विषय है। स्कूलों में शौचालय नहीं है। खासतौर पर लड़कियों के लिए अलग शौचालय की भारी कमी है। लड़कियों के स्कूल छोड़ने का यह प्रमुख कारण है।’’
उन्होंने कहा कि काफी संख्या में स्कूलों में पीने के पानी की सुविधा नहीं है और जिन स्कूलों में है भी, उनकी गुणवत्ता ठीक नहीं है। करीना कपूर ने कहा कि एक महत्वपूर्ण बात यह सामने आई है कि स्कूलों में छात्र और शिक्षकों के बीच संवाद का अभाव देखा गया है जो पठन पाठन की गुणवत्ता को बेहतर बनाने में बाधक है। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा कानूनी ही नहीं बल्कि बच्चों का नैसर्गिक अधिकार भी है।
उन्होंने कहा कि आज अधिकांश स्कूल ऐसे हैं जहां मेधावी बच्चों को तो तवज्जो दी जाती है लेकिन औसत दर्जे के बच्चों पर ध्यान नहीं दिया जाता। अपने स्कूल के दिनों में उन्होंने ऐसा देखा है। ऐसी स्थिति में बदलाव लाये जाने की जरूरत है।
करीना ने कहा कि अगले महीने वह छत्तीसगढ़ और भोपाल जायेंगी और स्कूलों में बच्चों की शिक्षा से जुड़े विषय पर जो भी हो सकेगा, अपने स्तर से योगदान देंगी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस सिलसिले में उत्तरप्रदेश, झारखंड और बिहार भी जाना चाहती हूं।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, यूपी सरकार पर क्यों बरसी करीना -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

Next Story
Top