Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अभिनेता कमल हासन के ''हिंदू आतंकवाद'' लेख पर राजनीति शुरू, ये है पूरा मामला

साउथ अभिनेता कमल हासन के हिंदू आतंकवाद बयान को लेकर एक बार फिर बहस छिड़ गई है।

अभिनेता कमल हासन के

साउथ अभिनेता और राजनीति में शुरूआत करने वाले कमल हासन के हिंदू आतंकवाद बयान को लेकर एक बार फिर बहस छिड़ गई है। हासन ने कहा है कि कमल हासन कहते हैं कि राइट विंग इस तथ्य को चुनौती नहीं दे सकता है कि 'हिंदू आतंक' नहीं है।

एक लेख में खुद कमल हासन ने हिंदू आतंकवाद को लेकर बयान दिया है। उन्होंने लिखा कि राइट विंग वाले ये बोलकर किसी को चुनौती नहीं दे सकते कि मुझे एक हिंदू आतंकवादी दिखाएं। आतंक अब उनके शिविर में भी घुस गया है।

ये भी पढ़ें - रायबरेली एनटीपीसी हादसा: घायलों से अस्पताल में मिले राहुल गांधी, मरने वालों की संख्या हुई 26

जानकारी के लिए बता दें कि इस लेख का शीर्षक 'कोई नहीं कह सकता है कि हिंदू आतंक नहीं है। हासन ने इस लेख में यह भी लिखा है कि तमिलनाडु एक बार फिर सामाजिक न्याय के लिए एक उदाहरण बनेगा, और इसके लिए केरल ने रास्ता दिखाया है।

हासन ने अपने लेख में केरल सरकार की तारीफ की है। उन्होंने लिखा कि केरल ने सांप्रदायिक हिंसा से तमिलनाडु के मुकाबले बेहतर ढंग से निपटा है। लेकिन वहीं दूसरी तरफ कमल हासने के इस बयान को लेकर सोशल एक्टिविस्ट राहुल ईश्वर ने कहा कि कमल हासन पीएफआई को नहीं देख रहे। केरल से हिंसा की खतरनाक रिपोर्ट्स आती रहती हैं।

लेकिन वह नहीं देख रहे हैं। वहां जबरन धर्मपरिवर्तन हो रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि वह जबरन धर्मांतरण पर भी बोलेंगे। वह सिलेक्टिव हो रहे हैं। ये बयान टाइम्स नाउ को दिए एक इंटरव्यू में कही है।

Share it
Top