Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

24 घंटे बिजली उपलब्ध न करा पाना है कलाम की जिंदगी का सबसे बड़ा अफसोस!

83 वर्षीय कलाम वर्ष 2002 से 2007 तक देश के 11वें राष्ट्रपति रहे हैं।

24 घंटे बिजली उपलब्ध न करा पाना है कलाम की जिंदगी का सबसे बड़ा अफसोस!
नई दिल्ली. पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को अपने जीवन में सबसे बड़ा अफसोस इस बात का है कि वह अपने माता पिता को उनके जीवनकाल में 24 घंटे बिजली उपलब्ध नहीं करा सके।
अपने माता पिता से ईमानदारी और आत्म अनुशासन सीखने वाले डा. कलाम हालांकि इस बात से खुश हैं कि उनके 99 वर्षीय भाई एपीजे एम मरईकयार तमिलनाडु के रामेश्वरम में अपने घर पर अब 24 घंटे बिजली पा रहे हैं और इसका श्रेय तकनीक को जाता है।
डा. कलाम ने एक साक्षात्कार में बताया, मेरे पिता जैनुलाब्दीन 103 साल तक जीवित रहे और मां आशियाम्मा 93 साल तक जीवित रहीं। मेरे भाई इस समय 99 साल के हैं। अपने भाई के लिए मैंने यह सुनिश्चित किया है कि उन्हें 24 घंटे बिजली मिले, भले ही पावर कट हो। मैंने एक सोलर पैनल लगवाया हुआ है। 83 वर्षीय कलाम वर्ष 2002 से 2007 तक देश के 11वें राष्ट्रपति रहे हैं।
वह कहते हैं, लेकिन मैं अपने माता पिता को ऐसी सुविधा उपलब्ध नहीं करा सका क्योंकि उस समय ऐसी तकनीक नहीं थी। इसका मुझे सबसे अधिक अफसोस है। घर में सबसे छोटा होने के कारण कलाम की घर में खास जगह थी। जब वह स्कूल में पढ़ रहे थे तो वहां बिजली नहीं थी। उनके घर में लालटेन से रोशनी होती थी और वह भी शाम को सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक, लेकिन उनकी मां ने उन्हें विशेष रूप से एक छोटा किरोसीन का लैम्प दिया हुआ था ताकि वह रात 11 बजे तक पढ़ सकें।
नीचे की स्लाइड्स में पढिए, खबर से जुड़ी पूरी जानकारी -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top