Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अस्‍पताल से जारी बयान में जयललिता ने कहा- ''मेरा पुनर्जन्‍म हुआ है''

जयललिता ने अपनी सेहत में सुधार को अपना पुनर्जन्‍म बताया है।

अस्‍पताल से जारी बयान में जयललिता ने कहा-
नई दिल्ली. तबीयत नासाज होने की वजह से पिछले करीब 50 दिनों से हॉस्पिटल में भर्ती तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री जयललिता ने पहली बार बयान जारी किया है। इसमें उन्‍होंने अपनी सेहत में सुधार को अपना पुनर्जन्‍म बताया है। साथ ही उन्‍होंने तबीयत में सुधार के लिए लोगों के प्रति आभार जताया।
इस लेटर में जयललिता ने कहा, 'तमिलनाडु, दूसरे राज्‍यों और बाकी दुनिया के लोगों की लगातार प्रार्थनाओं की बदौलत, मेरा पुनर्जन्‍म हुआ है और मैं इस जानकारी को खुशी-खुशी आपके साथ साझा करना चाहती हूं।' जयललिता का यह लेटर दो पन्‍नों का है और इसे पार्टी हेडक्‍वॉर्टर की तरफ से पार्टी की जनरल सेक्रटरी और मुख्‍यमंत्री जयललिता के नाम से जारी किया गया।
इसमें जया ने अपनी सेहत की जानकारी देने के अलावा तंजौर, अरावाकुरिची और तिरुपारनकुंद्रम के वोटरों से अपनी पार्टी को वोट देने की अपील की। उन्‍होंने कहा, 'मैं इन सभी तीन निर्वाचन क्षेत्रों से पार्टी की जीत के समाचार का इंतजार कर रही हूं। जब मुझे आप लोगों का प्‍यार और स्‍नेह मिलता है तो मैं खुश होती हूं और जल्‍द ही मैं पूरी तरह ठीक हो जाऊंगी और फिर से काम करना शुरू कर दूंगी।'
लेटर में जया ने कहा, 'मैं उन पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति संवेदना जाहिर करती हूं जिन्‍होंने मेरे हॉस्पिटल में भर्ती होने के बाद आत्‍महत्‍या कर ली। पार्टी के भविष्‍य और विकास के लिए मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं की जरूरत है। हालांकि, मैं पार्टी काडरों और इन तीन निर्वाचन क्षेत्रों के वोटरों से मिल नहीं सकती, लेकिन मेरा मन और दिल हमेशा उनके साथ रहेगा।'
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, जयललिता ने पार्टी कार्यकर्ताओं को सलाह दी कि वे इन सभी तीन निर्वाचन क्षेत्रों में पार्टी की जीत के लिए काम करें। जया ने कहा, 'इन सभी तीन निर्वाचन क्षेत्रों में हर पार्टी कार्यकर्ता को यह सोचना चाहिए कि पार्टी की जीत, उनकी अपनी जीत है। इन जगहों पर पार्टी के सभी उम्‍मीदवारों को बड़े अंतर से जीत हासिल करनी चाहिए।'
बता दें कि जयललिता को 'बुखार और डिहाइड्रेशन (शरीर में पानी की कमी)' की शिकायत के बाद 22 सितंबर को चेन्‍नै के अपोलो अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्‍हें रेस्‍परटोरी सपॉर्ट पर रखा गया था और फेफड़ों में समस्‍या को लेकर उनका इलाज किया गया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top