Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कश्मीर: हिंसा और संपत्ति नुकसान पहुंचाने के आरोप में 1700 गिरफ्तार

इन गिरफ्तारियों के दौरान पुलिस ने 250 कश्मीरी छात्रों को भी पकड़ा।

कश्मीर: हिंसा और संपत्ति नुकसान पहुंचाने के आरोप में 1700 गिरफ्तार
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में हिंसा और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के खिलाफ राज्य सरकार और पुलिस दोनों ही कड़ा एक्शन ले रही हैं। अभी हाल ही में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक प्रेस रिलीज की है। जिसमें पुलिस ने बताया है कि उन्होंने बीते 100 दिनों के अंदर कितने लोगों को छात्रों को गिरफ्तार किया है। जिन पर अंशाति, हिंसा और राज्य को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगा है।
वन इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि 16 सितंबर से 19 अक्टूबर के बीच राज्य में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और शांति भंग करने के लिए 1700 लोगों की गिरफ्तारियां हुई है। इनमें 250 छात्र भी शामिल हैं। वहीं राज्य के कुछ अखबारों का दावा है कि बुरहान वानी की मौत के बाद शुरू हुए अलगाववादी प्रदर्शनों के बाद राज्य में 9000 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मानवाधिकार संगठनो के मुताबिक, राज्य में अशांति के बीच 450 लोगों को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत गिरप्तार किया जा चुका है। इस कानून के तहत से 6 से 24 महीने तक बिना कोर्ट में पेश किए जेल में डाला जा सकता है।
बता दें कि जम्मू-कश्मीर में बुरहान वानी की मौत के बाद हालात ज्यादा बिगड़ गए हैं। कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में 8 जुलाई को मारे जाने के अगले दिन 9 जुलाई से शुरू हुए उपद्रव और अशांति को 104 दिन हो गए हैं। इस दौरान 91 लोगों की मौत हो गई, जबकि 12,000 से अधिक लोग घायल हुए। रिपोर्ट में कहा गया है कि कहा कि इन घटनाओं के दौरान छात्रों की उम्र औसत 18 से 19 साल है। उन्होंने बताया कि इन छात्रों को किताबें और दूसरी चाजें मुहैय्या कराई जा रही हैं, जिससे ये परीक्षाओं की तैयारी कर सकें।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top