Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जमाल खशोगी मर्डर केस: तुर्की मीडिया ने खोले राज, सऊदी दूतावास से सूटकेट में मिले कपड़े और लैपटॉप

तुर्की के मीडिया ने सरकारी जांच एजेंसी के हवाले से बताया कि इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में खड़ी एक कार से तीन सूटकेट बरामद किये गए हैं। इन सूटकेट में पत्रकार जमाल खशोगी के कुछ कपड़े और एक लैपटॉप मिला है।

जमाल खशोगी मर्डर केस: तुर्की मीडिया ने खोले राज, सऊदी दूतावास से सूटकेट में मिले कपड़े और लैपटॉप

अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में तुर्की के मीडिया ने बड़ा खुलासा किया है। तुर्की के मीडिया ने सरकारी जांच एजेंसी के हवाले से बताया कि इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में खड़ी एक कार से तीन सूटकेट बरामद किये गए हैं।

इन सूटकेट में पत्रकार जमाल खशोगी के कुछ कपड़े और एक लैपटॉप मिला है। इस मामले से गुस्साए अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने सऊदी अरब की कड़ी आलोचना की है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि सऊदी अरब के अधिकारियों ने पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या मामले को 'छिपाने की सबसे बदतर कोशिश की है।

इसे भी पढ़ें- तुर्की के राष्ट्रपति का बड़ा खुलासा: जमाल खशोगी की हत्या एक पूर्व नियोजित साजिश थी

चौतरफा घिरने के बाद आखिरकार सऊदी अरब ने कबूल किया है कि वॉशिंगटन पोस्ट के लिए लिखने वाले 59 वर्षीय खशोगी की हत्या इस्तांबुल स्थित उसके वाणिज्य दूतावास में की गई थी।

ओवल ऑफिस में मंगलवार को ट्रंप ने संवाददाताओं को बताया कि उनकी (सऊदी अरब) बहुत ही खराब मंशा थी। इस मामले को और बदतर बनाया गया। और यह मामले को दबाने की इतिहास की सबसे बदतर कोशिश है। बहुत ही आसानी से। बेहद घटिया करतूत। इसकी कभी कल्पना नहीं की जा सकती थी। किसी ने वास्तव में गड़बड़ी की। और उन्होंने अब तक के सबसे बदतर ढंग से मामले को छिपाने की कोशिश की।

इसे भी पढ़ें- सीबीआई घूस कांड: अरुण जेटली का बड़ा बयान, सरकार नहीं करेगी जांच

कभी शाही परिवार के करीबी रहे खशोगी बाद में सऊदी अरब के वली अहद (क्राउन प्रिंस) मोहम्मद बिन सलमान के धुर आलोचक बन गए थे। खशोगी अपनी होनेवाली शादी के लिए दस्तावेज लेने 2 अक्टूबर को इस्तांबुल स्थित सऊदी सरकार के वाणिज्य दूतावास गए थे, जिसके बाद वह लापता हो गए थे।

इस घटना से सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की अंतरराष्ट्रीय छवि को बहुत ही गंभीर नुकसान पहुंचा है। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने इस मामले में पूरी जांच करने की बात कही है। सीआईए निदेशक जीना हास्पेल अभी तुर्की में हैं और उनके जल्द अमेरिका लौटने की संभावना है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top