Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मानहानि के मामले के निपटारे के लिये जेटली, केजरीवाल ने दायर की संयुक्त याचिका

केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की एक अदालत में आपराधिक मानहानि के एक मामले के‘‘ निपटारे'''' के लिये संयुक्त रूप से याचिका दायर की है।

मानहानि के मामले के निपटारे के लिये जेटली, केजरीवाल ने दायर की संयुक्त याचिका
X

केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की एक अदालत में आपराधिक मानहानि के एक मामले के‘‘ निपटारे' के लिये संयुक्त रूप से याचिका दायर की है।

ये भी पढ़े- दिल्ली: नौकरी दिलाने का झांसा देकर महिला से गैंगरेप

डीडीसीए विवाद में आप नेता द्वारा जेटली के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर करीब दो साल पहले यह वाद दायर किया गया था। केजरीवाल ने इस मामले में माफी मांग ली थी।
दोनों नेताओं के वकीलों के मुताबिक, दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के दूसरे नेताओं द्वारा मांगी गई माफी को केंद्रीय मंत्री ने स्वीकार कर लिया है।
केजरीवाल पहले ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और कपिल सिब्बल के वकील बेटे अमित से माफी मांग ली थी जिन्होंने उनके खिलाफ ‘‘अपुष्ट' आरोप लगाने पर मानहानि का मामला और शिकायत दर्ज कराई थी।
माफी का यह दौर पिछले महीने शुरू हुआ जब केजरीवाल ने अकाली दल के नेता और पंजाब के पूर्व मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांग ली थी। केजरीवाल ने उन पर मादक पदार्थों का कारोबार करने का आरोप लगाया था।
केजरीवाल के खिलाफ हालांकि कई आपराधिक मामले अब भी लंबित हैं। हाईकोर्ट में जहां जेटली ने दिसंबर 2015 में दस करोड़ के मुआवजे का दावा करते हुये दीवानी मानहानि का मामला दर्ज कराया था
वहीं उन्होंने डीडीसीए में उनके कार्यकाल के दौरान कथित तौर पर बड़े पैमाने पर हुई वित्तीय अनियमितता के आरोप में केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक मानहानि का भी मामला दर्ज कराया था। हाईकोर्ट और निचली अदालत दोनों में सुनवाई के लिये यह मामला कल सूचीबद्ध है।
केजरीवाल के साथ ही पांच और आप नेता- संजय सिंह, राघव चड्ढा, आशुतोष, दीपक वाजपेयी और कुमार विश्वास हाईकोर्ट और निचली अदालत में कार्यवाही का सामना कर रहे थे। इस मामले में कार्यवाही का सामना कर रहे अन्य लोगों ने जहां बिना शर्त माफी मांग ली है वहीं कुमार विश्वास ने माफी नहीं मांगी है ऐसी स्थिति में उनके खिलाफ कार्यवाही जारी रहेगी।
उच्च न्यायालय में दिये गए पहले संयुक्त आवेदन के मुताबिक, केजरीवाल के अलावा अन्य आप नेताओं- चड्ढा, सिंह, आशुतोष और बाजपेयी ने जेटली और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ डीडीसीए मामले में अनियमितताओं के सिलसिले में लगाए गए आरोपों पर बिना शर्त माफी मांग ली है और अपने आरोप भी स्पष्ट रूप से वापस ले लिये हैं।
आवेदन में कहा गया कि मानहानि के दूसरे मामले के संदर्भ में केजरीवाल ने स्पष्ट रूप से कहा कि रामजेठमलानी द्वारा लगाए गए अपमानजनक और दुर्भावनापूर्ण बयान बिना उनकी जानकारी या निर्देश के थे।
आवेदन में कहा गया, ‘‘प्रत्येक आरोपी( केजरीवाल, संजय सिंह, राघव चड्ढा, आशुतोष और दीपक वाजपेयी) ने शिकायतकर्ता और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक या सोशल मीडिया में लगाए गए आरोपों को स्पष्ट रूप से वापस ले लिया है। इसके साथ ही उन्होंने इन आरोपों की वजह से शिकायतकर्ता या उनके परिवार के सदस्यों की छवि को पहुंचे नुकसान पर गंभीरता से माफी मांगी है।'
आवेदन में कहा गया, ‘‘आरोपियों द्वारा मांगी गई माफी को शिकायतकर्ता ने स्वीकार कर लिया है और इसके मद्देनजर शिकायत पर आगे कार्यवाही नहीं करने की इच्छा व्यक्त की है।'
संयुक्त आवेदन को क्रमश: जेटली और केजरीवाल की तरफ से पेश हुये वकील मानिक डोगरा और अनुपम श्रीवास्तव ने न्यायमूर्ति मनमोहन की अदालत के समक्ष पेश किया। रजिस्ट्री द्वारा कोई तकनीकी आपत्ति नहीं उठाए जाने की सूरत में हाईकोर्ट ने इस पर कल उचित पीठ के समक्ष सुनवाई के लिये सहमति व्यक्त की है।
निचली अदालत में अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने कहा कि अदालत जेटली और केजरीवाल के वकीलों की तरफ से दायर याचिका पर कल विचार करेगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story