Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हमारी संप्रभुता का सम्मान करे चीन: एस.जयशंकर

रायसीना सम्मेलन में विदेश सचिव एस.जयशंकर ने चीन-पाकिस्तान आर्थिक परिपथ पर कड़ी आपत्ति जताई।

हमारी संप्रभुता का सम्मान करे चीन: एस.जयशंकर
X
नई दिल्ली. भारत ने चीन को एक बार फिर साफ तौर पर कहा है कि वो हमारी संप्रभूता का सम्मान करे। रायसीना डायलॉग सम्मेलन को संबोधित करते हुए भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर ने ये बात कही। भारत के शक्तिशाली होने से किसी को कोई खतरा नहीं है ठीक उसी तरह से जैसे कि चीन के शक्तिशाली होने से भारत को कोई खतरा नहीं है।
भारत ने चीन को भारत की प्रादेशिक अखंडता का सम्मान करने की नसीहत देते हुए कहा कि पाकिस्तान के सहयोग से बनाया जा रहा उसका आर्थिक गलियारा जिस क्षेत्र से गुजरता है, वह भारत का हिस्सा है।
इंडियन एक्सप्रेस
के मुताबिक, विदेश सचिव एस जयशंकर ने द्वितीय रायसीना संवाद में अपने संबोधन के बाद सवालों के जवाब में चीन को दो टूक शब्दों में कहा कि उसे चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के मुद्दे पर भारत की संवेदनशीलता को समझना होगा।
एक सवाल के जवाब में जयशंकर ने ये भी कहा कि निश्चित रूप से लोग समझेंगे कि भारत की प्रतिक्रिया क्या है। यह आवश्यक है कि इसकी कुछ प्रतिक्रिया दिखे लेकिन मुझे अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि हमें ऐसे कोई संकेत नहीं मिले हैं। पहली बार है कि भारत ने चीन द्वारा ग्वादर बंदरगाह को जोड़ने के लिए बनाए जा रहे 46 अरब डॉलर के इस गलियारे को लेकर अपनी प्रतिक्रिया बहुत तीखे रूप में प्रकट की। विदेश सचिव ने कहा, चीन अपनी संप्रभुता से जुड़े मसलों को लेकर बहुत ज़्यादा संवेदनशील है। हम अपेक्षा करते हैं कि वे भी अन्य लोगों की संप्रभुता का सम्मान करें।
उन्होंने आगे कहा कि भारत की प्रगति चीन की प्रगति के लिए उसी प्रकार से हानिकारक नहीं है जिस प्रकार से चीन की प्रगति भारत की प्रगति के लिए नहीं है। चीन को लेकर भारत का यह रुख ऐसे समय सामने आया है जब चीन सरकार विभिन्न अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत के कदमों में बार-बार अड़ंगे लगा रहा है, चाहे परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में सदस्यता का आवेदन हो या फिर जैश-ए- मोहम्मद के मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने का मामला हो। अपने संबोधन में डा. जयशंकर ने चीन के उदय को एशिया के गतिशीलता का तत्व बताया।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story