Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आतंकवादियों से मुठभेड़ में सेना के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, लेफ्टिनेंट फैयाज के हत्यारों को ऊतारा मौत के घाट

जम्मू और कश्मीर के अनंतनाग और शोपियां में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में सेना और पुलिस के सयुक्त अभियान में 8 आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया है। डीजीपी एसपी वैद्द ने प्रेस कॉन्फ्रैंस कर इस बात की जानकारी दी है।

आतंकवादियों से मुठभेड़ में सेना के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, लेफ्टिनेंट फैयाज के हत्यारों को ऊतारा मौत के घाट
X
जम्मू और कश्मीर के अनंतनाग और शोपियां में आतंकवादियों के साथ सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ को लेकर डीजीपी एसपी वैद्द ने मीडिया से जानकारी साझा कि है। डीजीपी वैद्द ने बताया कि दो जगहों पर आतंकवादियों के सात चल रहा एनकाउंटर खत्म हो गया है, और एक जगह पर अभी भी पुलिस के साथ आतंकियों की मुठभेड़ जारी है।
डीजीपी ने बताया कि अनंतनाग के एसएसपी ने आतंकवादियों के खिलाफ इस ऑपरेशन में विशेष भूमिका निभाई है। उन्होंने बताया की एसएसपी ने आतंकियों के परिवार वालों से बात कर उन्हें आतंकियों को हिंसा का रास्ता छोड़ कर आत्म समर्पण करने की सिफारिश की थी। लेकिन आतंकियों ने अपने घरवालों की बात को दरकिनार करते हुए उनकी बात नहीं मानी।
डीजीपी ने बताया कि हमने इस मुठभेड़ में एक आतंकी को जिंदा पकड़ने में सफलता हासिल की है, जबकि एक आतंकी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया है। उन्होंने आगे जानकारी दी कि आतंकवादियों के साथ हुई इस मुठभेड़ में हमारे दो जवान भी शहीद हुए है। डीजीपी ने कहा कि इस एनकाउंटर में जम्मू और कश्मीर पुलिस के इलावा सीआरपीएफ और आर्मी के जवानों को भी चोंटे आई है।
डीजीपी वैद्द ने बताया कि शोपियां में मारे गए सातों आतंकवादियों कि पहचान वहीं के स्थानीय नागरिक के रूप में हुई है। यहीं नहीं मारे गए आतंकियों कि शिनाख्त उनके परिवार वालों द्वारा कर ली गई है और उन्होंने मारे गए आतंकियों की बॅाडी पर अपना दावा भी किया है।
मीडिया के सवालों के जवाब में डीजीपी ने कहा कि इस इंकाउटर में शोपिया इलाके के डरागद में एक और कचदौरा में एक स्थानीय नागरिक को अपनी जान गवानी पड़ी है। वहीं 25 नागरिकों को पैलेट गन की गोलियों से चोंटे आई है तो 6 लोग बंदुक की गोली से जख्मी हुए है।
वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इस बात की भी पुष्टि की है कि मारे गए सातों आतंकवादियों में से मारे गए दो आतंकवादी भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट फयाज की हत्या में भी शामिल थे। जिनकी पुलिस को काफी समय से तलाश थी।
वहीं सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी एके भट्ट ने आतंकवादियों के खिलाफ पुलिस और सेना के इस संयुक्त अभियान की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि सेना, पुलिस और सीआपीएफ के जवानों के बीच इस ऑपरेशन के दौरान अच्छा समनव्य देखने को मिला है।
उन्होंने कहा कि हम सेना काफी समय से लेफ्टिनेंट फैयाज के कातिलों कि तलाश कर रही थी और आज हमने अपने जवान के हत्यारों को मार गिराया है। उन्होंने बताया कि मारे गए सभी आतंकवादी यहीं के स्थानीय नागरिक थे और इस बात की पुष्टि कर ली गई है।
गौरतलब है कि 2017 में लेफ्टिनेंट फैयाज बाटापुरा में अपने मामा की बेटी की शादी में शरीक होने गए थे जहां से 9 मई रात करीब 10 बजे आतंकवादियों ने उन्हें अगवा कर लिया था।
आतंकियों ने गोलियों से छलनी कर दिया था जिसके बाद उनका शव अगले दिन यानि 10 मई को सुबह मिला था। कुलगाम जिला निवासी फैयाज एक साल पहले ही दिसंबर में सेना में शामिल हुए थे। सेना ने इस जघन्य आतंकी हरकत को अंजाम देने वालों को न्याय के दायरे में लाने का संकल्प लिया था।
आपको बता दे कि दक्षिण कश्मीर में हुई तीन अलग-अलग मुठभेड़ों में सुरक्षा बलों को आज बड़ी सफलता मिली है। इन मुठभेड़ों में 8 आतंकवादी मारे गये हैं जबकि एक ने आत्मसमर्पण कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ अनंतनाग जिले में तड़के हुई मुठभेड़ में जहां एक आतंकवादी मारा गया वहीं दूसरे ने आत्मसमर्पण कर दिया। शोपियां जिले में चल रही दो मुठभेड़ों में से एक में 8 आतंकवादी मारे गये हैं। दूसरी मुठभेड़ अभी चल रही है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story