Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गजब: इस बार मेघालय में इटली, अर्जेंटीना, स्वीडन और इंडोनेशिया भी डालेंगे वोट, जानिए पूरा मामला

मेघालय विधानसभा चुनाव में इटली, अर्जेंटीना, स्वीडन और इंडोनेशिया भी वोट करके अपना एमएलए चुनेंगे।

गजब: इस बार मेघालय में इटली, अर्जेंटीना, स्वीडन और इंडोनेशिया भी डालेंगे वोट, जानिए पूरा मामला
X

मेघालय विधानसभा चुनाव में इटली, अर्जेंटीना, स्वीडन और इंडोनेशिया भी वोट करके अपना एमएलए चुनेंगे। आप सोच रहे होंगे कि यहां के असेंबली चुनाव में ये देश क्यों वोट करेंगे?

दरअसल मेघालय के खासी हिल्स जिले में शेला असेंबली सीट के उमनिउ-तमर एलाका गांव में इटली, अर्जेंटीना, स्वीडन और इंडोनेशिया जैसे नाम यहां रहने वाले लोगों के हैं। इतना ही इस बार के चुनाव में प्रॉमिसलैंड और होलीलैंड नाम की बहनें और उनका पड़ोसी येरूशलम भी हिस्सा लेगें।

मिलेंगे हंसाने वाले नाम

एलाका के प्रमुख प्रीमियर सिंह ने बताया, मेघालय के कई छोटे-छोटे गांवों में कई लोगों के ऐसे नाम मिल जाएंगे, जिनको सुनकर आप घंटों हंसते रहेंगे। यहां के 50 फीसदी लोग अंग्रेजी शब्दों के शौकीन हैं।

ये लोग अपने नामों में ऐसे अंग्रेजी शब्दों का इस्तेमाल करते हैं जो सुनने में अच्छे लगते हैं लेकिन इनका मतलब वे नहीं जानते। मेघालय का बांग्लादेश सीमा से लगा एलाका भी इन्हीं में एक हैं।

यहां 850 पुरुष और 916 महिलाएं रजिस्टर्ड वोटर हैं लेकिन यहां आपको कई अजीब नाम सुनने को मिल जाएंगे। प्रीमियर बताते हैं कि वे काफी भाग्यशाली हैं कि उनके पिता पढ़े लिखे थे और उन्हें जो नाम दिया गया वो उनकी पोस्ट (एलाका चीफ) पर फिट बैठता है।

दिनों के नाम पर हैं वोटरों के नाम

प्रीमियर के मुताबिक गांव के सभी लोग शिक्षित नहीं हैं लेकिन फिर भी वे स्मार्ट हैं। यहां आपको कई लोगों के नाम संडे, थर्सडे भी सुनने को मिल जाएंगे। यहां तो लोगों के नाम देश के अन्य राज्यों जैसे त्रिपुरा, गोवा भी रखे जाते हैं। यहां के लोगों के नाम भारत, मुमताज, दुर्गा, नेहरू सूटिंग, नेहरू संगमा, गुडनेस और यूनिटी भी रखे जाते हैं।

मिलेंगे ये अजीब नाम

30 साल की 12वीं पास स्वेटर नाम की महिला ने अपनी बच्ची का नाम रखा- आई हैव बीन डिलिवर्ड (मैंने इसे जन्म दिया)। इलाके में लोगों के टेबल, ग्लोब, पेपर जैसी रोजमर्रा की चीजों पर नाम मिलेंगे।

साथ ही प्लेनेट्स-ओशन पर वीनस, सेटर्न, अरेबियन सी, पैसिफिक और महाद्वीपों पर नाम भी सुनने को मिलेंगे। शूकी नाम की महिला ने अपनी तीन बेटियों के नाम रिक्वेस्ट, लवलीनेस, और हैपीनेस रखे।

एक कॉलमनिस्ट एचएच मोहरमैन के मुताबिक, कई मामलों में तो लोगों को अपने बच्चों के नाम का मतलब भी नहीं पता। दुख तो तब होता है जब नामों के चलते बच्चों को शर्मिंदगी उठानी पड़ती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story