Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ISRO पांच दिसंबर को फ्रेंच गुयाना से लॉन्च करेगा सबसे भारी सेटेलाइट GSAT-11

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा बनाए ''सबसे अधिक वजनी'' उपग्रह जीसैट-11 का पांच दिसंबर को फ्रेंच गुआना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से प्रक्षेपण किया जाएगा।

ISRO पांच दिसंबर को फ्रेंच गुयाना से लॉन्च करेगा सबसे भारी सेटेलाइट GSAT-11

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो द्वारा बनाए 'सबसे अधिक वजनी' उपग्रह जीसैट-11 का पांच दिसंबर को फ्रेंच गुआना के एरियानेस्पेस के एरियाने-5 रॉकेट से प्रक्षेपण किया जाएगा।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि करीब 5,854 किलोग्राम वजन का जीसैट-11 देशभर में ब्रॉडबैंड सेवाएं उपलब्ध कराने में अहम भूमिका निभाएगा। उसने बताया कि यह इसरो का बनाया अब तक का सबसे अधिक वजन वाला उपग्रह है।

जीसैट-11 अगली पीढ़ी का 'हाई थ्रूपुट' संचार उपग्रह है और इसका जीवनकाल 15 साल से अधिक का है। इसे पहले 25 मई को प्रक्षेपित किया जाना था लेकिन इसरो ने अतिरिक्त तकनीकी जांच का हवाला देते हुए इसके प्रक्षेपण का कार्यक्रम बदल दिया।

इसे भी पढ़ें- एक क्लिक में जानिए कैसे तेल कंपनी में काम करते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति बने जॉर्ज बुश सीनियर

शुरुआत में उपग्रह भू-समतुल्यकालिक स्थानांतरण कक्षा में ले जाया जाएगा और उसके बाद उसे भू-स्थैतिक कक्षा में स्थापित किया जाएगा।

एरियाने-5 रॉकेट जीसैट-11 के साथ कोरिया एयरोस्पेस अनुसंधान संस्थान (केएआरआई) के लिए जियो-कोम्पसैट-2ए उपग्रह भी लेकर जाएगा। यह उपग्रह मौसम विज्ञान से संबंधित है।

Share it
Top