Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इंटरनेट की दुनिया में क्रांति लाएगा ISRO

GSAT-19 को अहमदाबाद स्थित स्पेस अप्लिकेशन सेंटर में तैयार किया जाएगा।

इंटरनेट की दुनिया में क्रांति लाएगा ISRO
X

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन GSAT-19 और GSAT-11 सैटेलाइट्स के जरिए डिजिटल इंडिया के लिए फायदेमंद साबित होंगी। ये सैटेलाइट्स इंटरनेट सेवाओं और स्ट्रीमिंग के अनुभव को पूरी तरह बदल कर रख देंगी।

इसरो अपने रॉकेट प्रक्षेपण केंद्र श्रीहरिकोटा में प्रयोग कर रहा है। इसरो जल्द ही अपने नई श्रेणी के जनसंचार सैटेलाइट को अंतरिक्ष में ले जाएगा। GSAT-19 को अहमदाबाद स्थित स्पेस अप्लिकेशन सेंटर में तैयार किया जाएगा।
तैयार होने के बाद GSAT-19 अकेला 6-7 सैटेलाइट के बराबर होगा। अंतरिक्ष अभी भीरत के 41 सैटेलाइट हें जिनमें से 13 जनसंचार सैटेलाइट हैं।
GSAT-19 की खासियत
GSAT-19 का वजन 3,136 किलोग्राम है और ये अब तक का सबसे भारी सैटालाइट होगा। इस सैटेलाइट में कोई ट्रांसपोंडर नहीं होगा। इसमें नई तकनीक का इस्तेमाल होगा जिससे इंटरनेट की क्षमता 6-7 गुना बढ़ जाएगी।
इसरो के वैज्ञानिकों ने बताया कि GSAT-19 तो सिर्फ ट्रेलर होगा, असली मूवी तो GSAT-11 सैटेलाइट होगा। इसे GSAT-19 के बाद छोड़ा जाएगा। इसका वजह 5.8 टन होगा, जिसे दक्षिण अमेरिका के कोउरो से छोड़ने की योजना है। इन सैटेलाइट्स के बाद इंटरनेट स्पीड कई गुना ज्यादा बढ़ जाएगी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story