Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इजरायल की इन 8 खास तकनीक के आगे फेल है अमेरिका से लेकर चीन तक, जानिए इनके बारे में

इजरायल ने खेती का स्मार्ट तरीका अपनाया है।

इजरायल की इन 8 खास तकनीक के आगे फेल है अमेरिका से लेकर चीन तक, जानिए इनके बारे में

इन दिनों इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू अपनी पत्नी सहित भारत के दौरे पर आये हुये हैं। इजराइल एक छोटा-सा देश है, जो रेगिस्तान से सटा हुआ है। इजराइल की आधी से ज्यादा भूमि बंजर है साथ ही यहां मौसम संबंधी कठिनाईयां और जल की कमी जैसी गंभीर समस्यायें हैं। इसके बावजूद भी यहां कृषि के क्षेत्र में सकारात्मक नतीजे देखने को मिले हैं।

इजरायल ने खेती का स्मार्ट तरीका अपनाया है। वहां पानी की बचत से लेकर फसलों के प्रोडक्शन पर तो बहुत काम हुआ है। साथ ही कम मैन पावर में ज्यादा काम करने के लिए मशीनों का इस्तेमाल किया जाता है। इससे किसानों का समय बचता है और खेती भी स्मार्ट होती है।
इजरायल ने खेती का स्मार्ट तरीका अपनाया है।
आइये जानते हैं इजराइल की इन खास तकनीकों को जिन्हें भारत को भी अपनाना चाहिये-
1. टपकन सिंचाई (ड्रिप इरिगेशन) तकनीक-
इस तकनीक के इस्तेमाल से पानी और पैसा दोनों का बचाया जा सकता है। इस तकनीक में ड्रिप को धीमा और संतुलित किया जाता है जिससे उत्पादन क्षमता में बढ़ोत्तरी होती है। इजराइल की ये टपका सिंचाई विधि अब कई देशों में इस्तेमाल की जा रही है। इस विधि से इजरायल से बाहर लगभग 700 ऐसे किसान परिवार हैं जो साल में अब तीन फसलें पैदा कर रहे हैं जो कि पहले एक बार ही होता।
2. अन्न कोष-
इजराइल ने एक ऐसे अन्न कोष का निर्माण किया है जिसमें किसान कम खर्चों में ही अपनी फसल को ताजा और सुरक्षित रख सकते हैं। इंटरनेशनल फूड टेक्नोलॉजी कंसलटेंट प्रोफेसर श्लोमो नवार्रो ने इस बड़े बैग को बनाया है। ये बैग हवा और पानी, दोनों से सुरक्षित रहेगा। ये बैग उपज की सुरक्षा के लिए कारगार साबित हो रहा है। भीषण गर्मी और सीलने होने के बाद भी इस बैग में रखी फसलें सुरक्षित रहती हैं।
3.जैविक कीट निंयत्रण-
इजराइल की बायो-बी नामक कंपनी ने ऐसे कीट नियंत्रक दवा का निर्माण किया है जिसके छिड़काव से कीड़े तो दूर रहते हैं लेकिन इससे मक्खी और भौरों को कोई नुकसान नहीं होता। और इसके प्रयोग के बाद से पैदावार में 75 प्रतिशत तक की वृद्धि हुई है। बायो बी की दवा और भौरों का प्रयोग इस समय 32 देशों में किया जा रहा है, जिसमें जापान और चिली भी शामिल हैं।
4.डेयरी फार्मिंग-
इजराइल में तीन तरह के डेयरी फार्म हैं। होफ हैशरेन डेयरी फार्म, एसएई एफिकिम और एससीआर प्रीसाइज डेयरी फार्म। इनके प्रतिदिन तीन लाख लीटर दूध की सप्लाई की जा रही है।
Next Story
Top