Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नेपाल में गिरफ्तार हुआ कानपुर रेल हादसे का मास्टरमाइंड, निकला ''ISI एजेंट''

होदा ने आइएसआइ के इशारे पर भारत की ट्रेनों को निशाना बनाने की साजिश रची थी।

नेपाल में गिरफ्तार हुआ कानपुर रेल हादसे का मास्टरमाइंड, निकला
नेपाल. कानपुर, आंध्र प्रदेश और बिहार के रेल हादसों की तस्वीरें अभी भी आपके जेहन में होंगी। हाल ही में हुए इन हुए इन रेल हादसों में भी हजारों लोगों की जानें चली गई हैं। भारत में रेल हादसे अब आम बात हो चलें हैं। लेकिन पिछले साल हुआ कानपुर रेल हादसा एक साजिश था। आपको बता दें कि ये रेल हादसा पाक खुफिया एंजेसी के इशारे पर हुई एक साजिश के तहत हुआ था। भारतीय रेलवे के दुश्मन और देश में हुए रेल हादसों के साजिशकर्ता को नेपाल की राजधानी काठमांडू से गिरफ्तार कर लिया गया हैं।
कानपुर में पिछले साल हुए रेल हादसे के मुख्य साजिशकर्ता शमशुल होदा को काठमांडू से गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि आरोपी शमशुल होदा भारत में कई ट्रेन हादसों के लिए जिम्मेदार है। होदा पाकिस्तान खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर काम करता है और जिसने दुबई में बैठकर भारत की ट्रेनों को निशाना बनाने की साजिश रची थी।
रिपोर्ट के मुताबिक आरोपी होदा को डीपोर्ट करने के लिए नेपाल और भारतीय जांच एजेंसियों ने दबाव डाला था जिसके बाद उसे काठमांडू लाया गया। उसके दुबई से नेपाल डीपोर्ट किए जाने की बात कही जा रही है। जानकारी के अनुसार भारतीय खुफिया एजेंसी आईबी, रॉ और एनआईए की टीमें पहले से ही नेपाल के काठमांडू में मौजूद थीं। होदा से दो दिनों तक पूछताछ की गई जिसके बाद उसे कलैया ले जाया गया, जहां उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी। काठमांडू में एनआईए और नेपाल पुलिस की स्पेशल ब्यूरो ने होदा से पूछताछ की।
गौर हो कि भारतीय जांच एजेंसी को कानपुर रेल हादसे में साजिश के अहम सबूत मिले थे। कानपुर हादसे में लगभग 151 लोगों की जान गयी थी जबकि कई लोग घायल हो गए थे। कानपुर हादसा पिछले साल 28 दिसंबर को हुआ था। नेपाल से गिरफ्तार ब्रिज किशोर गिरी के फोन से एक ऑडियो क्लिप बरामद किया गया था जिसमें कानपुर रेल हादसे की साजिश की बातचीत है। नेपाल पुलिस ने एनआईए समेत तमाम जांच एजेंसियों को यह आडियो क्लिप सौंप दी है। एनआईए ने हाल में तीन एफआईआर दर्ज की हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top