Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शेयर बाजार में हाहाकार, निवेशकों के 2.2 लाख करोड़ डूबे

शुक्रवार को शेयर बाजार में हाहाकार मच गया। सेंसेक्स 689.60 अंकों या 1.89 फीसदी की भारी गिरावट के साथ 35,742.07 पर बंद हुआ, वहीं निफ्टी 197.70 अंकों या 1.81 फीसदी की गिरावट के साथ 10,754. पर बंद हुआ।

शेयर बाजार में हाहाकार, निवेशकों के 2.2 लाख करोड़ डूबे

शुक्रवार को शेयर बाजार में हाहाकार मच गया। सेंसेक्स 689.60 अंकों या 1.89 फीसदी की भारी गिरावट के साथ 35,742.07 पर बंद हुआ, वहीं निफ्टी 197.70 अंकों या 1.81 फीसदी की गिरावट के साथ 10,754 पर बंद हुआ।

निवेशक हैरान हैं कि कुछ दिनों से बढ़िया प्रदर्शन कर रहे बाजार में आखिर अचानक इतनी बड़ी गिरावट कैसे दर्ज की गई?

क्रिसमस के त्योहार से पहले हुई इस गिरावट की वजह से निवेशकों को 2.2 लाख करोड़ का नुकसान हुआ है। इसी के साथ बीएसई पर सूचीबद्ध कंपनियों का संयुक्त बाजार पूंजीकरण (एमकैप) 145.56 लाख करोड़ रुपये से घटकर 143.30 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया।

कंप्यूटर डाटा निगरानी पर घेरे में सरकार, विपक्ष ने बताया निजता पर हमला

किसानों की कर्ज माफी

कुछ विश्लेषकों का कहना है कि राज्य दर राज्य लगातार किसानों की कर्जमाफी से क्रेडिट मार्केट और सरकारी बैंकों की वित्तीय सेहत पर पड़ने वाले संभावित प्रतिकूल असर को लेकर बाजार में तनाव का माहौल है।

साथ ही, कुछ विश्लेषकों का यह भी कहना है कि काफी दिनों से बढ़िया प्रदर्शन कर रहे शेयर बाजार में शुक्रवार को जोरदार मुनाफावसूली हुई। वैश्विक अनिश्चितता के बीच विदेशी संस्थागत निवेशक क्रिसमस की खुशियां मनाने से पहले कोई जोखिम नहीं लेना चाह रहे हैं। बाजार में नकदी बढ़ने से अर्थव्यवस्था में मुद्रास्फीति का दबाव पैदा हो सकता है।

दिग्विजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, अदालत ने जारी किया गैर जमानती वारंट

दबाव में रुपया

शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया बेहद दवाब में देखा गया। दोपहर के कारोबार में रुपया 56 पैसे की गिरावट के साथ 70.26 पर कारोबार कर रहा था।

एनर्जी स्टॉक्स

पिछले कुछ दिनों के भीतर वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से एनर्जी कंपनियों के शेयर दबाव में हैं। ओपेक द्वारा कीमतों में कटौती का संकेत देने के बाद शुक्रवार को कच्चे तेल की कीमत में गिरावट देखी गई, हालांकि परिदृश्य अभी भी विकट बना हुआ है।

Loading...
Share it
Top